सामूहिक आत्महत्या के मामले में पूर्व DIG व DSP समेत 6 को मिली सजा

Amritsar sucide case
google

पंजाब के अमृतसर में एक ही परिवार के पांच लोगों ने सामूहिक आत्‍महत्‍या कर ली थी जिसके बाद यहां अदालत ने आरोपी पाए गए 6 लोगों को सज़ा सुना दी है। इसमें पूर्व DIG कुलतार सिंह सहित 5 लोगों को 8 साल की सजा सुनाई गई है जबकि मौजूदा DSP हरदेव सिंह को 4 को सजा मिली है। साथ ही अमृतसर की अतिरिक्त जिला एवं सत्र अदालत द्वारा सभी आरोपियों पर जुर्माना भी ठोंका गया है। वर्ष 2004 में यह बहुचर्चित सामूहिक आत्महत्या का मामला सामने आया था जिसमे इन सभी आरोपियों पर इस परिवार को ब्‍लैकमेल करने का आरोप लगा था। आरोपी करार दिए गए लोगों में 4 लोग आत्महत्या करने वाले परिवार के ख़ास रिश्तेदार हैं।

अमृतसर के चौक मोनी क्षेत्र के निवासी हरदीप सिंह ने अपनी मां, पत्‍नी, बेटे और बेटी के साथ दो पुलिस अधिकारियों तथा 4 रिश्‍तेदारों के ब्‍लैकमेल करने से परेशान होकर आत्‍महत्‍या कर लिया था। हरदीप का अपने पिता से पारिवारिक संपत्ति को लेकर कुछ झगड़ा हो गया था जिसमे पिता सुंदर सिंह की मौत हो गई थी। इस मामले के बाद हरदीप अपने पिता के शव को गुपचुप तरीके ठिकाने लगा रहा था लेकिन उसके ताऊ महिंदर की बहू सबरीन कौर ने उसे ऐसा करते हुए देख लिया और फिर ब्‍लैकमेलिंग का दौर शुरू हो गया जिसमे दो पुलिसकर्मी भी शामिल हो गए। इस ब्लैकमेलिंग से ऊबकर पूरे परिवार ने आत्महत्या कर ली।

गणतंत्र दिवस से पहले होने वाला था बड़ा हमला,DSP और आतंकी को लेकर बड़ा खुलासा

अमृतसर की अतिरिक्त जिला एवं सत्र अदालत के न्यायाधीश संदीप सिंह बाजवा ने दोनों पुलिसकर्मियों समेत सभी आरोपियों को सज़ा सुनाई और कुलतार पर 23000 रुपये और डीएसपी हरदेव सिंह पर 20000 रुपये का जुर्माना भी लगाया है। आत्‍महत्‍या करने वाले परिवार के 4 रिश्तेदारों में महिंदर सिंह, उसकी बहू सबरीन कौर, बेटी परमिंदर कौर और दामाद पलविंदर पाल सिंह को सज़ा दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here