जानें पुलिस स्मृति दिवस पर पुलिसकर्मियों और उनके परिवारों के लिए क्या बोले गृह मंत्री

home minister talk about police
image source - google

आज गृह मंत्री अमित शाह ने पुलिस स्मृति दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया और शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर गृह मंत्री ने कहा कि मैं शहीद हुए पुलिसकर्मियों को नमन करता हूँ और उनके परिजनों से कहना चाहता हूँ कि यह पुलिस स्मारक सिर्फ चूने-पत्थर और सीमेंट से बना स्मारक नहीं है बल्कि यह हमें हमेशा याद दिलाता है कि इन वीर जवानों ने देश को अमरत्व देने का काम किया है। उनके सर्वोच्च बलिदान से ही देश चैन की नींद सोता है।

पुलिस की नहीं होती कोई छुट्टी

गृह मंत्री ने आगे कहा ‘पुलिस के लिए कोई छुट्टी नहीं होती, उन्हें 24 घंटे- 365 दिन देश की सुरक्षा में तैनात रहना पड़ता है। जब पूरा देश त्योहार मना रहा होता है तब भी पुलिसकर्मी चौराहे पर खड़े होकर अपनी ड्यूटी कर रहा होता है। आपके त्याग व बलिदान को देश समझे इसीलिए मोदी सरकार ने राष्ट्रीय पुलिस स्मारक बनाया है।

1. शांति कि वजह है पुलिस, लेकिन पुलिस बल कि संख्या कम है। मोदी सरकार कई योजनाओं पर काम कर रही है जिससे यह कमी दूर हो सके। रक्षा शक्ति यूनिवर्सिटी और फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी संबंधित विधेयक इस दिशा में अभूतपूर्व प्रयास हैं। Lockdown के समय पुलिस ने सभी सहायता की।

2. पुलिसकर्मियों ने पहली पंक्ति में खड़े रहकर corona से लड़ाई लड़ी और 343 पुलिसकर्मियों ने जान गंवाई। उनके इस बलिदान को कोरोना की लड़ाई में स्वर्ण अक्षरों से लिखी जाएगी।

3. HM अमित शाह ने आगे कहा कि देश के गृहमंत्री के नाते मैं मोदी सरकार की ओर से हमारे सभी पुलिसकर्मियों को आश्वस्त करता हूँ कि आप देश और देश कि आंतरिक सुरक्षा को संभालें, सरकार आपकी और आपके परिवार की रक्षा व हितों के लिए सदैव तत्पर, जागरूक और कटिबद्ध रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here