राजधानी का प्रदूषण से बुरा हाल, AQI पर दर्ज किए गए डराने वाले आंकड़े

delhi air pollution
image source - google

देश की राजधानी दिल्ली में अब प्रतिदिन प्रदूषण बढ़ता जा रहा है। वायु प्रदूषण सूचकांक में दर्ज किए गए डाटा के अनुसार दिल्ली के अलीपुर, मुंडका और वजीरपुर में हवा की गुणवत्ता बहुत ही खराब है।

एयर क्वालिटी इंडेक्स पर अलीपुर की वायु गुणवत्ता 432, मुंडका की 427 और वजीरपुर के 409 दर्ज की गई है। यह नंबर बताते हैं कि दिल्ली की हवा सांस लेने योग्य नहीं है। इतनी प्रदूषित हवा में सांस लेने से लोगों को सांस लेने संबंधी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं।

प्रदूषण के लिए कौन है जिम्मेदार?

हर साल ठंड के मौसम में दिल्ली की हवा इतनी प्रदूषित हो जाती है कि लोगों की आंखों में जलन और सांस लेने में समस्या होने लगती है। इसके साथ ही जहरीली हवा में सांस लेने से दिल और फेफड़े से जुड़े बीमारियां हो सकती हैं। लेकिन इस प्रदूषण के लिए आखिर जिम्मेदार कौन हैं?

कहा जा रहा है कि किसानों द्वारा पराली जलाई जाती है, जो कि एक बड़ा कारण है दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने का। आपको बता दें कि पराली जलाने सिर्फ 4% वायु प्रदूषण होता है। जबकि फैक्ट्री-कारखानों और वाहनों से निकलने वाले धुंए से 96% तक का प्रदूषण होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here