गर्भवती महिलाओं को मिलेंगे 5000 रुपये: PMMVY

PMMVY

भारत सरकार ने महिलाओं के लिए कई सारी योजनाओं का संचालन किया है उन्ही योजनाओं में से एक “प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना” PMMVY है। PMMVY का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को 5000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करके उनकी सेहत को अच्छा बनाना और नवजात बच्चे की सेहत को भी अच्छा रखना है।

देश में कुछ ऐसे भी गरीब परिवार हैं जिनके पास खाने के लिए दो वक्त की रोटी भी नसीब नहीं होती है तो ऐसे में वो परिवार गर्भवती महिला की सेहत पर कैसे ध्यान दे पायेगा। इसीलिये प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने 31 दिसंबर 2016 को PMMVY का शुभारम्भ किया।

सीधे बैंक खाते में आएगा पैसा

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत 5000 रुपये की धनराशि सीधे गर्भवती महिला के बैंक खता में दी जाती है जिससे महिला इसका लाभ आसानी से उठा सकती है। 5000 रुपये की धनराशि को इकठ्ठा न देकर सरकार इसे तीन चरणों में देती है। पहला चरण जब महिला गर्भवती होने का पंजीकरण करती है तो उसे 1000 रुपये की धनराशि दी जाती है।

दूसरा चरण जब महिला छः महीने की गर्भवती होने पर चेकअप करवाती है तो उसे 2000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। तीसरा चरण जब बच्चा छः महीने का होता है तो वक्सीनेशन के समय उसे 2000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। इस तरह महिला को 5000 रुपये प्रदान किये जाते हैं।

PMMVY का लाभ पाने की पात्रता

  • गर्भवती महिला को पब्लिक हेल्थ सेंटर में पंजीकरण करना अनिवार्य है
  • लाभार्थी का आधार कार्ड उसके बैंक खाते से जुड़ा होना अनिवार्य है
  • एक बच्चे से ज्यादा जन्म होने पर यह लाभ नहीं मिलेगा
  • बच्चे का जन्म अस्पताल में होना अनिवार्य है, घर पर जन्मे बच्चे को इसका लाभ नहीं मिलेगा

निष्कर्ष:- इस पोस्ट में हमने जाना कि Pradhan Mantri Matru Vandana Yojana (PMMVY) क्या है और इसके लिए पात्रता क्या है।