गणतंत्र दिवस पर इतिहास रचने जा रही महिला “स्वाति राठौर” कौन हैं ?

इस बार गणतंत्र दिवस पर कई खास बातें होंगी। सबसे ख़ास बात यह है कि इस बार महिला पायलट फ्लाई पास्ट का नेतृत्व करेगी। राजस्थान की बेटी स्वाति राठौर (स्वाति राठौर) पहली बार ऐसा कर इतिहास बनाने जा रही है। उन्हें राजपथ पर फ्लाई पास्ट का नेतृत्व करने के लिए चुना गया है।

भारतीय गणतंत्र के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब एक महिला (स्वाति राठौर) गणतंत्र दिवस 2021 के अवसर पर फ्लाई पास्ट की कमान का नेतृत्व करेंगी । स्वाति राजस्थान के नागौर जिले से हैं। वो भारतीय वायु सेना में एक फ्लाइट लेफ्टिनेंट के रूप में कार्यरत हैं। स्वाति का परिवार वर्तमान में पंचशील,अजमेर में रहता है। उनके पिता डॉ. भवानी सिंह राठौर कृषि विभाग में उप निदेशक के पद से जुड़े हैं। मां राजेश कंवर एक गृहिणी हैं। बताना जरुरी होगा स्वाति ने केरल में बाढ़ के दौरान बचाव अभियान के तहत एक सराहनीय योगदान दिया। उन्होंने बहुत सारे लोगों को एयरलिफ्ट कर सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया।

स्वाति के परिवार का कहना है कि वह बचपन से ही निडर और साहसी थीं। वह स्कूली पढ़ाई के दौरान खेल में अधिक रुचि लेती थीं । बाद में उन्होंने एनसीसी ज्वाइन कर लिया। स्वाति एनसीसी एयरविंग में एक कैडेट थीं और ज्वाइनिंग डिफेंस से जुड़ी थीं। साल 2014 में स्वाति का फाइटर पायलट बनने का सपना पूरा हुआ। 2013 में स्वाति एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट में बैठीं थीं और टेस्ट क्लियर करने के बाद मार्च 2014 में स्वाति को एयरफोर्स सलेक्शन बोर्ड देहरादून में साक्षात्कार के लिए बुलाया गया था। तब वहां देशभर से करीब 200 छात्राएं पहुंची थीं और इनमें से 98 को स्क्रीनिंग के लिए चुना गया था।स्क्रीनिंग के बाद सिर्फ पांच छात्राएं मैदान में रहीं, जिसमें फ्लाइंग ब्रांच के लिए एकमात्र स्वाति का चयन हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here