Rafale Induction Ceremony में रक्षा मंत्री ने दुश्मन देशों को दिया कड़ा संदेश

Rafale Induction Ceremony
image source - google

आज औपचारिक रूप से राफेल लड़ाकू विमान भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ। इसके लिए विशेष कार्यक्रम का आयोजन कराया गया। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री साथ पहुंचे। इनके अलावा सीडीएस बिपिन रावत और वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया भी उपस्थित रहे। बता दें राफेल इंडक्शन सेरिमनी में विशेष अतिथि फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पर्ली थी।

दुश्मन देशों को दिया कड़ा संदेश

राफेल इंडक्शन सेरिमनी को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय वायुसेना में अत्याधुनिक लड़ाकू विमान का शामिल होना एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक क्षण है और इस ऐतिहासिक क्षण का गवाह बनना हम सभी के लिए गौरव का विषय है। इंडक्शन के अवसर पर मै हमारे सशस्त्र बलों सहित सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

राफेल लड़ाकू विमान का भारतीय वायुसेना में शामिल होना भारत और फ्रांस के बीच मजबूत संबंधों का भी प्रतिनिधित्व करता है। दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंध भी मजबूत हुए हैं।

राफेल इंडक्शन सेरिमनी को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होना दुनिया के लिए बड़ा और कड़ा संदेश है। खासकर हमारी संप्रभुता पर नजर रखने वालों के लिए। हमारी सीमा पर इन दिनों तनाव का माहौल बना है। इस माहौल के बीच Rafael induction ceremony का होना अहम है।

रक्षा मंत्री: भारत के दृष्टिकोण को दुनिया के सामने रखा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपनी फ्रांस और ईरान की यात्रा का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने अपनी विदेश यात्रा में भारत के दृष्टिकोण को दुनिया के सामने रखा। मैंने सभी को अवगत कराया कि भारत किसी भी परिस्थिति में अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करेगा।

Rafale Deal पर कांग्रेस के सवाल,BJP ने दिया ये ज़वाब

फ्रांस रक्षा मंत्री ने राफेल इंडेक्सिंग सेरिमनी को किया संबोधित

Rafael induction ceremony में विशेष अतिथि के रुप में आमंत्रित फ्रांस विदेश मंत्री फ्लोरेंस पर्ली ने अपने संबोधन में कहा कि आज भारत और फ्रांस दोनों देशों के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। हम दोनों देशों के रक्षा संबंधों में नया अध्याय लिख रहे हैं।

फ्रांस पूरी तरह से make in India पहल के साथ-साथ अपनी वैश्विक आपूर्ति श्रंखला में भारतीय निर्माताओं के एकीकरण के लिए प्रतिबद्ध है। हम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के लिए भारत की उम्मीदवारी का समर्थन करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here