कोरोना के इलाज को लेकर होमियोपैथिक डॉक्टर हेमंत मोहन की कानपुर में हो रही चर्चा

homeopathic doctor Hemant Mohan
homeopathic doctor Hemant Mohan

कानपुर में एक तरफ कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं तो दूसरी तरफ एक होमियोपैथिक डॉक्टर के इलाज को लेकर पुलिस अधिकारी भी उनकी वाह-वाही करने लगे। कानपुर के वह होमियोपैथिक डॉक्टर है हेमंत मोहन जिनकी दवा कोरोना मरीजों पर रामबाण साबित हो रही है। खुद कानपुर आईजी ने आज इस बात को स्वीकार किया कि डॉक्टर हेमंत की दवा से उनके बहुत से पुलिसकर्मी कोरोनावायरस से ठीक हुए हैं। डॉक्टर के क्लिनिक में 24 घंटो मरीजों की भीड़ लगी रहती है उनकी क्लीनिक पर कोरोना से बचाव के लिए भी मरीजों का तांता लगा रहता है।

होमियोपैथिक दवा का ईजाद करने वाले डॉ हैनिमेन की याद में कानपुर के आरोग्यधाम में 266 वां विश्व होमियोपैथिक दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर आईजी मोहित अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित करने के बाद केक काटकर इस दिवस को मनाया। आपको बता दे कि जब कोरोना अपनी चरम सीमा पर था तब कानपुर के होमियोपैथिक डॉ हेमंत और आरती मोहन ने कोवीड मरीजों को निशुल्क दवा दी थी।

निशुल्क दवा उपब्ध करायी 

कोवीड के समय चौबीस घंटो अपनी ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों को भी दवा निशुल्क दी गई। शनिवार को विश्व होमियोपैथिक दिवस के अवसर पर आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ रहा है। उसको देखते हुए एहतियात बरतने की जरुरत है। इस बीमारी में शरीर की पावर बढ़ाने की जरुरत होती है जिसको होमियोपैथिक दवा पूरा करती है।

पिछले कोरोना के समय में आरोग्यधाम की तरफ से पुलिस कर्मियों के साथ-साथ काफी लोगो को निशुल्क होमियोपैथिक दवा दी गई थी। इनकी दवा कानपुर के अलावा पूरे देश में लोगो को उपलब्ध कराई गई थी। जिससे लोगो कोरोना से बचाव कर सके है। अब एक बार फिर से कोरोना बढ़ रहा है इसलिए अगर हम अन्य दवाओं के साथ होमियोपैथिक दवा लेंगे तो इसके परिणाम अच्छे आएंगे। आईजी ने जनता से अपील करी कि सभी लोग कोवीड गाइडलाइन का पालन करे जिससे एक बार फिर से इसको मात दी जा सके।

क्या कहा हेमंत मोहन ने

कोरोना काल में अपनी अहम् भूमिका निभाने वाले आरोग्यधाम की डॉ आरती मोहन व हेमंत मोहन का कहना है कि इस बार कोरोना के जो केस आ रहे है उनमे सिम्टम्स बहुत ज्यादा है। जिसमे कोरोना के सिम्टम्स के साथ-साथ डेंगू और टाइफाइड भी देखने को मिल रहा है। ऐसे मरीज डाक्टर से मिले बगैर दवा ले रहे है जिसकी वजह से उनको काफी परेशानी हो रही है।

डॉक्टर से फिरौती मांगने वाले को पुलिस ने इस तरह धरदबोचा

उनका कहना है कि जो मरीज कोरोना से ग्रसित है वो केवल डाक्टर की सलाह ले। इसमें होमियोपैथिक दवा काफी कारगार है। डाक्टरों का यह भी कहना है कि होमियोपैथिक दवा पूरी तरह से कारगार है जिसकी वजह से यह शरीर को रोगो से लड़ने के प्रति मजबूत करती है। इसलिए होमियोपैथिक दवा का सेवन करे जिससे कोरोना से बचाव हो सके।

रिपोर्टर – दिवाकर श्रीवास्तव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here