हुगली: इस वजह से 300 गांव वालों ने किया था हमला

hugli attack

हुगली में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को कवर कर रहे मीडिया की गाड़ियों पर स्थानीय लोगों ने हमला किया। इसके साथ ही भाजपा नेता लॉकेट चटर्जी की गाड़ी पर भी हमला हुआ था। लेकिन ये सब एक गलत अफवाह फैलने के कारन हुआ।

कूचबिहार की घटना पर कूचबिहार के SP ने बताया कि एक आदमी की तबियत खराब हुई और वो बेहोश हो गया, बूथ के सामने उसका इलाज चल रहा था। उस समय अफवाह फैल गई कि CISF ने उसे मारापीटा है।

गांव के 300-350 लोगों ने CISF कर्मी पर हमला किया, राइफल ​छीनने और बूथ में घुसने की कोशिश के दौरान CISF ने फायरिंग की।
इस घटना में 4 स्थानीय ग्रामीणों की मौत हुई है। इनकी उम्र 22-25 साल है।

मामले ने पकड़ा तूल

इस समय चुनाव हो रहे है तो राजनितिक पार्टियां कोई भी मुद्दा हाथ से जाने नहीं देना चाहती। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कल कूचबिहार में उस जगह का दौरा करेंगी, जहां आज फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई।

BJP नीतीश प्रामाणिक: प्रशांत किशोर TMC के ताबूत में आखिरी कील ठोककर चले गए

ममता बनर्जी ने कहा कि सीआरपीएफ ने आज सीतलकुची (कूच बिहार) में 4 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी है। सुबह एक और मौत हुई थी। CRPF मेरी दुश्मन नहीं है, लेकिन गृह मंत्री के निर्देश पर एक साजिश चल रही है और आज की घटना एक सबूत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here