कांग्रेस और यूपी सरकार में बसों को लेकर वॉर,प्रियंका गांधी के निजी सचिव पर FIR

congress and cm yogi buses war

कॉन्ग्रेस और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच इस समय बसों को लेकर वॉर चल रहा है। कल कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पंकज मलिक लगभग 20 लोगों के साथ नोएडा बॉर्डर पर 100 बसों को लेकर पहुंचे थे और बसों को प्रदेश में प्रवेश करने की अनुमति मांग रहे थे। लेकिन नोएडा पुलिस ने उनको बॉर्डर पर ही रोक दिया। जिसके बाद कॉन्ग्रेस और पुलिस के बीच बहस भी हुई। पुलिस का कहना था कि जब सभी बसों की जांच हो जाएगी और कागजात सही होंगे तो प्रवेश दिया जाएगा। वहीं कांग्रेस नेता भी अपनी जिद पर अड़े रहे और देर रात तक बसों के पास एकत्रित रहे।

पुलिस का कहना है कि इस दौरान लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन भी किया गया है। जिसे लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पंकज मलिक समेत 20 लोगों पर एफ आई आर दर्ज की गई है। वहीं कॉन्ग्रेस ने 300 बसें आगरा-भरतपुर बॉर्डर पर भी भेजी थी। जिसे आगरा प्रशासन ने भी रोक दिया था। इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस का कहना है कि योगी सरकार राजनीति कर रही है।

प्रियंका गांधी के निजी सचिव पर एफआईआर दर्ज

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह ने यूपी सरकार को 1000 बसों की लिस्ट भेजी थी। जिसमें बाइक, ऑटो रिक्शा, एंबुलेंस, कार आदि के नंबर पाए गए थे और कुछ बसों के नंबर चोरी वाहनों के होने की भी आशंका है। इसी को लेकर हजरतगंज पुलिस में धोखाधड़ी के मामले में प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह पर एफ आई आर दर्ज की है।

वहीं संदीप सिंह ने उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी को पत्र लिखकर कहा की “हम 19 मई की सुबह से ही खड़े हैं। आपके आग्रह अनुसार जब हमने नोएडा- गाजियाबाद की तरफ चलने की कोशिश की तो आगरा बॉर्डर पर पुलिस ने हमको रोक दिया। पुलिस ने यूपीसीसी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के साथ दुर्व्यवहार गिरफ्तार किया है। हमने अपने हर पत्र में यह साफ-साफ कहा है कि श्रमिकों की मदद करना हमारा पहला ध्येय है। आज पूरा दिन हम बसों के साथ खड़े रहे और हमारे द्वारा भेजे गए पत्र का आपकी तरफ से कोई जवाब ही नहीं आया है। इस पत्र के माध्यम से हम आपको यह सूचित करना चाहते हैं कि हम अपनी बसों के साथ 20 मई शाम 4:00 बजे तक रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here