सीएम योगी का भ्रष्टाचार पर कड़ा रुख, कार्यवाही के बाद किया ट्वीट

Yogi's tough stand on corruption
image source google

चाहे पीएफ घोटाला हो या 7 PPS अफसरों को सेवा से बर्खास्त करना हो इससे ये तो तय है की यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भ्रष्टाचार और लापरवाही पर कड़ी नज़र गड़ाए हुए हैं । उसी तरह उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपना कड़ा रुख भी इख्तियार कर लिया है और उस पर कार्यवाही करना भी शुरू कर दिया है।

आपको बता दें की मुख्यमंत्री योगी ने 7 PPS अफसरों के कार्य में लापरवाही व भ्रष्ट पाए जाने पर उन्हें सीधे सेवा से बर्खास्त कर दिया है। दूसरी तरफ योगी ने 7 अफसरों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति भी दे दी है। और अन्य अधिकारियों की सूची भी जारी करने का आदेश भी मिल चुका है। इसके अलावा ऐसी सख्त कार्यवाही होने के बाद योगी ने अपने ऑफिसियल ट्विटर पर कार्यवाही से भी अवगत कराया :-

सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा कि-

भ्रष्टाचार के आरोपी अधिकारियों पर त्वरित और सख्त कार्रवाई के बाद अब अक्षम, अयोग्य और संदिग्ध सत्यनिष्ठा वाले पुलिस अधिकारियों के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई।

मुख्यमंत्री श्री @myogiadityanath जी के नेतृत्व वाली सरकार में केवल ‘बेहतर को ही अवसर’ है।

यह ‘योगी सरकार’ है

औरों की तरह इसके पास सिर्फ वादे ही नहीं दृढ़ इरादे भी हैं।
यह सरकार किसी व्यक्ति या वंश की नहीं, जनहित के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध सरकार है।
भ्रष्टाचारी चाहे जितने रसूख वाले हों बचेंगे नहीं।

यह ‘योगी राज’ है

इसमें बाकी सरकारों की तरह “साहब की मर्जी ही कानून है” नहीं चलेगा।
यहां कानून का ऐसा राज है जिसमें किसी भी तरह के भ्रष्टाचार की कोई गुंजाइश नहीं है।

उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन आयाम हैं-

  • सत्यनिष्ठा
  • कर्मठता
  • दक्षता

इन पैमानों पर खरा न उतरने वाले सात अधिकारियों को आज अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी गयी।
स्पष्ट संदेश – कर्तव्यपालन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं। सुशासन ही संकल्प