सरकार की कार्यवाही से डरे रोहिंग्यों ने उठाया ये कदम, देखें वीडियो

Rohingya Muslims
image source - google

रोहिंग्यों के ऊपर सरकार के आदेश के बाद बड़ी कार्यवाही होनी शुरू हो गयी है। जम्मू कश्मीर में अवैध रूप से बसे हुए रोहिंग्यों को हटाकर हीरानगर उप जेल में बने डिटेंशन सेंटर में रखा गया है।

सूत्रों के अनुसार लगभग 5 बसों में 200 के आसपास रोहिंग्या को डिटेंशन सेंटर में भेज दिया गया है। वहीं इस कार्यवाही से डरे अन्य रोहिंग्या अपने-अपने ठिकाने छोड़कर भाग रहे है। उन्हें डर है कि कंही उन्हें भी उठाकर जेल में न डाल दिया जाये।

रोहिंग्याओं की जानकारी जुटाई जा रही

जिन रोहिंग्याओं को डिटेक्ट कर लिया गया है उनकी बायोमेट्रिक और नाम-पता, परिवार में सदस्यों की संख्या, भारत कब आये और किस तरह आये। यहाँ रहकर क्या और कहाँ काम किया। इत्यादि जानकारियां जुटाई जा रही है।

एक रोहिंग्या ने बताया कि वो 14-15 साल पहले यहाँ आये थे और अब वो यहाँ नहीं रहना चाहते है। कल वो हमारे 300 लोगों को ले गए। हमे डर है कि कहीं हमे भी न ले जाएँ और जेल में डाल दें।

त्रिपुरा को बांग्लादेश से सीधे जोड़ने वाले ब्रिज का पीएम ने किया लोकार्पण

सरकारी आंकड़ों के अनुसार 13000 से ज्यादा रोहिंग्या जम्मू कश्मीर के 5 जिलों में रहते है। इनमे म्यांमार और बांग्लादेशी सहित कई विदेशी है। ये सभी अवैध रूप से भारत में रह रहे थे। अब इन्हे चिन्हित किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here