यूपी के औरैया में दर्दनाक हादसा, 24 मजदूरों की मृत्यु व 37 घायल

up auraiya accident
image source - google

उत्तर प्रदेश के औरैया में एक बड़ा हादसा हुआ है। जिसमें 24 मजदूरों की मृत्यु हो गई है और 37 मजदूर बुरी तरह घायल हुए हैं, जिनमें से 22 को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि 15 को सेफाई रेफर कर दिया गया है।

दरअसल प्रवासी मजदूरों से भरा डीसीएम दिल्ली से आ रहा था। कुछ मजदूरों को चाय पीने की इच्छा हुई तो औरैया-कानपुर देहात रोड पर किनारे बने एक ढाबे पर वह चाय पीने के लिए चले गए और कुछ मजदूर डीसीएम में ही आराम कर रहे थे। इसी बीच राजस्थान से आ रहे एक तेज रफ्तार ट्रक ने डीसीएम में जोरदार टक्कर मार दी। इस टक्कर की वजह से दोनों गाड़ियां पलट कर एक गड्ढे में जा गिरी। जिसमें 24 मजदूरों की मौत हो गई और 37 मजदूर बुरी तरह घायल हुए हैं। यह सड़क हादसा देर रात 2:30 से 3:00 के बीच हुआ।

मुख्यमंत्री ने लिया संज्ञान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस सड़क हादसे के जांच करने के आदेश दिए हैं और फतेहपुर सीकरी आगरा एसएचओ को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही मथुरा कोसी कला थाने के एसएचओ को भी निलंबित किया है। मृतकों के परिवारजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए सीएम योगी ने उनके परिवार को 2-2 लाख रुपए और घायलों के परिवार को 50-50 हजार रूपए देने की घोषणा की है।

इस हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि “उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क दुर्घटना बेहद ही दुखद है। सरकार राहत कार्य में तत्परता से जुटी है। इस हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं, साथ ही घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।”

पीड़ितों की मदद के लिए अखिलेश यादव ने बढ़ाए हाथ और सरकार पर बोला हमला

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश के औरैया में सड़क हादसे में 24 से भी अधिक गरीब प्रवासी मजदूरों की मौत पर अवर्णनीय दुख, घायलों के लिए दुआएं। सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि सब कुछ जानकर… सब कुछ देख कर भी… मौन धारण करने वाले हृदयहीन लोग और उनके समर्थक देखें कब तक इस उपेक्षा को उचित ठहराते हैं। ऐसे हादसे मृत्यु नहीं हत्या है। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने 1 लाख की मदद मृतकों के परिजनों को करने की घोषणा की है और भाजपा सरकार से मृतकों को 10 लाख रुपए देने की मांग की है।

प्रियंका गांधी ने भी सरकार पर साधा निशाना

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि औरैया की हृदय विदारक घटना ने एक बार फिर यह प्रश्न उपस्थित कर दिया है कि आखिर सरकार क्या सोचकर इन मजदूरों के घर जाने की समुचित व्यवस्था नहीं कर रही है? प्रदेश के अंदर मजदूरों को ले जाने के लिए बसें क्यों नहीं चलाई जा रही हैं या तो सरकार को कुछ दिख नहीं रहा या वह सब कुछ देख कर अनजान बनी हुई है। क्या सरकार का काम सिर्फ बयानबाजी करना रह गया है। सभी मृतकों के पार्थिव शरीरो को सम्मान पूर्वक उनके परिजनों तक पहुंचाया जाए। सभी घायलों का समुचित इलाज हो और इन सब की आर्थिक मदद की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here