यूपी बोर्ड रिजल्ट घोषित, जाने किसने और कहाँ से मारी बाजी

Up boards result 2020
Image source - DNA India

यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट 2020 का रिजल्ट घोषित कर दिया गया है। आज शनिवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर नतीजे घोषित किए।

High school results 2020

हाईस्कूल परीक्षा में 30,02,290 संस्थागत और 22190 व्यक्तिगत कुल 30,24,480 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे। जिसमें से 2753150 संस्थागत तथा 19471 व्यक्तिगत कुल 2772656 विद्यार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए थे। 2297140 संस्थागत तथा 12662 व्यक्तिगत कुल 23,09,802 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। संस्थागत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.44 है तथा व्यक्तिगत परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 65.03 हैं। संपूर्ण परीक्षार्थियों का उत्तीर्ण प्रतिशत 83.31 है।

परीक्षा में सम्मिलित कुल विद्यार्थियों में से 1490814 बालक थे तथा 1281842 बालिकाएं थी। जिनमें से 1190888 बालक तथा 1118914 बालिकाएं उत्तीर्ण हुई है। बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 79.88% है। जबकि बालिकाओं का उत्तरण प्रतिशत बालकों से ज्यादा इतनी 87.29 है।

Intermediate exam results 2020

इंटरमीडिएट परीक्षा में 25,18,324 संस्थागत और 58015 व्यक्तिगत परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे। कुल मिलाकर 25,86,339 परीक्षार्थी पंजीकृत हुए थे। जिनमें से 24,22,978 संस्थागत तथा 61501 व्यक्तिगत परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। 1808414 संस्थागत तथा 45685 व्यक्तिगत विद्यार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए हैं।

कुल इंटरमीडिएट की परीक्षा में 2484479 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए थेे। जिनमें से 1392675 बालक तथा 1091804 बालिकाएं थी। जिनमें से 959223 बालक तथा 894876 बालिकाएंं उत्तीर्ण हुई है। बालकों का उत्तीर्ण प्रतिशत 68.88 है और बालिकाओं का उत्तीर्ण प्रतिशत 81.96 है।

परीक्षार्थियों के हित में 10 महीने पहले ही बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल घोषित कर दिया गया था और 18 फरवरी 2020 से हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाएं शुरू हुई थी। 6 मार्च 2020 तक परीक्षाएं संपन्न हो गई।

नकल विहीन बोर्ड परीक्षा के संचालन हेतु ऑनलाइन माध्यम से 7783 परीक्षा केंद्रों का निर्धारण किया गया। जो कि वर्ष 2019 की तुलना में 517 केंद्र, वर्ष 2018 से 766 केंद्र, वर्ष 2017 से 3631 केंद्र कम है।

संपूर्ण बोर्ड परीक्षा की निगरानी वेबकॉलिंग के माध्यम से की गई। जिसके लिए हाई स्पीड ब्रॉडबैंड कनेक्शन युक्त शिक्षा निदेशक के कार्यालय में राज्य स्तरीय कंट्रोल रूम तथा प्रत्येक जनपद में जनपद स्तरीय कंट्रोल रूम की स्थापना की गई।

नकल ना हो इसके लिए परीक्षा कक्षा में 1.94 लाख वॉइस रिकॉर्डर युक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे। इसके साथ ही पुस्तिकाओं के कवर प्रश्न बदलने अथवा उत्तर पुस्तिकाओं को बाहर से लिखी हुई अन्य उत्तर पुस्तिका से बदलने की संभावना आदि पर प्रभावी नियंत्रण के लिए संपूर्ण प्रदेश में प्रथम बार क्रमांकित तथा 4 रंगों की उत्तर पुस्तिकाओं का प्रयोग किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here