गोण्डा से तीन दिनों के अंदर दो तीन तलाक मामले आये सामने

google

उत्तर प्रदेश के गोण्डा में तीन तलाक के नए कानून का असर नहीं दिख रहा है बेखौफ हो तीन तलाक दिया जा रहा है। बता दे की गोंडा जिले से तीन दिनों के अंदर दो-दो तीन तलाक का मामला सामने आया है। इसी में से एक मामले में शौहर ने सऊदी से लौटकर अपनी पत्नी पर चरित्रहीन का आरोप लगाते हुए उसे तलाक दे दिया। वहीं दूसरे मामले में पत्नी द्वारा फोन पर खैरियत पूछने पर गुस्से में आकर शौहर ने फोन पर तीन तलाक दे दिया। हलांकि दोनों मामलों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। पीड़िताओं ने नए कानून के तहत कार्यवाही की मांग की है।

तीन तलाक के नए कानून का असर नहीं दिख रहा

पहला तीन तलाक का मामला गोण्डा के चिस्तीपुर गांव का है। जहां की रहने वाली मेनाज को उसके पति ने सऊदी से लौटकर तलाक दे दिया और उसका बच्चा भी छीन लिया। इतना ही नहीं मेनाज के पति और ससुराल वालों ने मेनाज के सारी सरकारी दस्तावेज भी छीन लिया। मेनाज ने बताया कि उसकी शादी इमरान के साथ हुई थी। उसका पति कमाने के लिए सऊदी चला गया था।

बेखौफ हो दिया जा रहा है तीन तलाक

इस दौरान उसके ससुराल वाले उसे प्रताड़ित करते थे व मारते पीटते थे। पति जो भी पैसे उसके खाते में भेजता उसके ससुराल वाले उससे ले लेते थे। जिस पर वह अपने ससुराल से दूर एक किराए के मकान में रहने लगी। जब उसका पति इमरान सऊदी से लौटकर वापस आया तो अपने घर वालो के कहने पर उसके ऊपर चरित्रहीन का आरोप लागते हुए उसे तीन तलाक दे दिए। मेनाज का कहना कि उसके पति पर पुलिस नए कानून के तहत कार्यवाही करे व उसे जीवन यापन के लिए भत्ता और न्याय दिलाए।

राजनाथ सिंह ने शिशिर त्रिपाठी के परिवार की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के दिए निर्देश

पत्नी को फोन पर पति की खैरियत पूछना पड़ा महंगा

इसी मामले में गोण्डा के भोंका गांव की रहने वाली अफसाना का भी दर्द तो और भी गहरा है।अफसाना को तो फोन पर पति की खैरियत पूछना महंगा पड़ गया। पत्नी के फोन पर पति गुस्से में इतना लाल पिला हो गया कि उसने फोन पर ही अफसाना को तलाक…तलाक…तलाक बोल दिया। पीड़िता के परिजनों ने बताया कि अफसाना का पति शहंशाह दहेज की मांग करता था। जिसको लेकर पति-पत्नी विवाद होता रहता था। अफसाना को तलाक के लिए मजबूर करता था था लेकिन अफसाना नहीं मान रही था। अफसाना अपने मायके आई हुई थी। अपने पति शहंशाह का हालचाल जानने के लिए फोन किया तो नाराज पति फोन पर तलाक दे दिया।

एफआईआर दर्ज करने पर भी नहीं की गई थी कार्यवाही 

तलाक की शिकायत अफसाना ने थाने में दी लेकिन पुलिस ने हफ्तों से कोई कार्यवाही नहीं की गई। जिसके बाद अफसाना अपनी पीड़ा लेकर डीआईजी से मिली। डीआईजी ने मामले को सज्ञान में लेते हुए कर्नलगंज पुलिस को एफआईआर दर्ज करने का निर्देश दिया। जिस पर अमल करते हुए थाने की पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिले के एएसपी महेंद्र कुमार ने बताया कि दोनों तलाक के मामले पर मुकदमा दर्ज हो गया है। मुस्लिम महिला अधिकार कानून के तहत कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here