वित्त मंत्री ने आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त का किया ऐलान,आत्मनिर्भर भारत बनाने पर फोकस

fm announce economy package
image source - google

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज शाम 4:00 बजे आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त का ऐलान किया। उन्होंने अंतरिक्ष क्षेत्र, सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर, बिजली वितरण कंपनियों का निजीकरण, एमआरओ इको सिस्टम बनाने के लिए टैक्स की व्यवस्था, 6 एयरपोर्ट की नीलामी, सिविल एविएशन सेक्टर को लेकर कदम, रक्षा खरीद और रक्षा उत्पादन, मिनरल माइनिंग में निजी निवेश बढ़ाने सहित आठ क्षेत्रों को लेकर बड़े ऐलान किए।

1.प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी कंपनियों की भागीदारी को अनुमति दी गई है।

2.रक्षा क्षेत्र में हथियार उपकरण स्पेयर पार्ट्स आदि कई चीजों को सरकार नोटिफाई करेगी और आयात को बैन किया जाएगा। क्योंकि अब सरकार भारत में ही इनका निर्माण करेगी। ‌ इसके लिए एफडीआई की सीमा को 49% से बढ़ाकर 74% कर दिया गया है।

3.एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया 6 एयरपोर्ट की नीलामी करेगी। विमानों को लंबे रास्ते लेने पड़ते हैं। इसमें समय लगता है और समय की कीमत है। इसलिए इसे सुगम बनाया जाएगा। 2 महीने के अंदर यह काम होगा और इससे विमान क्षेत्र में 1000 करोड़ का फायदा होगा। पर्यावरण स्वच्छ रहेगा और फ्यूल भी बचेगा।

4.खनिज क्षेत्र में निजी निवेश को बढ़ाया जाएगा। विकास, रोजगार को बढ़ावा देने और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी लाने के लिए संरचनात्मक सुधार। 500 माइनिंग ब्लॉक की नीलामी की जाएगी।

5.कोल क्षेत्र में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बड़ा ऐलान किया है। इसमें कमर्शियल माइनिंग होगी और कोल इंडिया लिमिटेड की खदानें प्राइवेट सेक्टर को दी जाएंगी। सरकार 50 नए ब्लॉक नीलाम करेगी।

6.केंद्र शासित प्रदेशों में बिजली कंपनियों का निजीकरण किया जाएगा।

7.भारत में विदेशी कंपनियों को आकर्षित करने के लिए एंपावर्ड ग्रुप का गठन किया गया है। प्रत्येक मंत्रालय में सेल बनेगा। जो राज्यों और विदेशी कंपनियों से बातचीत करेगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा एलान किए गए आज आर्थिक पैकेज की चौथी किस्त का पूरा फोकस रोजगार को बढ़ाना और भारत को आत्मनिर्भर बनाने पर था। केंद्र सरकार अब विभिन्न क्षेत्रों में आयात को कम कर स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा देना की तैयारी में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here