झाँसी में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए जिला प्रशासन सतर्क

    jhansi covid news
    image source - google

    झांसी में कोविड-19 स्ट्रेन की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप को कम करने के लिए जिला प्रशासन ने कमर कस ली है। जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में स्थित कोविड चिकित्सालय में केवल कोविड के गंभीर मरीजों का उपचार किया जाए।

    बाकी मरीजों को एल-1 व एल-2 चिकित्सालय में उपचार पर रखा जाएगा। जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में कोविड-19 कोर ग्रुप की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जनपद में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है।

    मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है। जनपद में बनाए गए सभी एल-1 हॉस्पिटल पूरी क्षमता के साथ संचालित कराया जाए। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए एल-1 हॉस्पिटल बरुआसागर सीएचसी में 100 बेड, सीएचसी बड़ागांव में 100 बेड, शेल्टर होम नगर निगम में 100 बेड को पुनः संचालित कराया जाए।

    चुनावी रंजिश के चलते दो पक्षो में हुआ खूनी संघर्ष, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

    ताकि मेडिकल कॉलेज कोविड चिकित्सालय में उन्हीं मरीजों को भेजा जाए जो अति गंभीर है बाकी मरीजों को एल-1 हॉस्पिटल और रेलवे हॉस्पिटल एल-2 में उपचार के लिए रखा जाएगा। बताये चले कि झाँसी में 4195 लोगों कि जांच के बाद 151 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। झाँसी में अब कोरोना के नए एक्टिव मरीजो की संख्या 557 हो गयी है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here