ताज महल की सुंदरता पर दाग लगा रहा कोयला

ताज महल की सुंदरता को देखने के लिए देश विदेश से हजारों लोग रोज आते है पर अब ताज महल की सुंदरता कम हो रही है। ऐसा शहर में चल रही भट्टियों की वजह से हो रहा है। दरअसल भट्टियों से निकली राख ताज की सुंदरता को कम कर रही है। जो की एक चिंता का विषय है। इससे पहले भी एक रिपोर्ट में पता चला था की ताज का सफ़ेद संगमरमर अब पीला हो रहा है। इसकी वजह अम्लीय वर्षा को बताया गया था और अब ये राख ताज पर दाग लगा रही है।

IIT कानपूर की रिपोर्ट से हुआ खुलासा

IIT कानपुर प्रो. मुकेश शर्मा जो की सिविल विभाग के हेड है उन्होंने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को जो ताज की रिपोर्ट दी है। उसमे ताज की सुंदरता पर दाग लगाने वाले कारणों को बताया गया है। रिपोर्ट में पर्टिकुलेट मैटर-2.5 कणों की संख्या कोयले और राख की वजह से बढ़ रही है। साथ ही वाहन,लकड़ी आदि जलाने से ताज प्रभावित हो रहा है। जाँच में ताज महल पर प्लास्टिक,पेपर,ठोस कूड़ा जलाये जाने से जो तत्व उत्पन्न होते है वो तत्व मिले है।

लखनऊ के सरकारी स्कूलों में बांटे गए जूतों की होगी जांच

नालों का पानी वजह

जाँच में पता चला की ताज के गुंबद पर ताज को प्रभावित करने वाले तत्व की मात्रा अधिक है। जो की उसकी सुंदरता को कम कर रहे है। साथ ही यमुना के पानी में ट्रीटमेंट किये बिना नालों के पानी को छोड़ा गया। जिससे अमोनिया की मात्रा बहुत हो गयी है। अब ताज की सुंदरता बनाये रखने के लिए सरकार द्वारा सख्त कदम उठाये जा सकते है।