सरकारी अस्पताल में हो रही रेमडीसीवीर इंजेक्शन की कालाबाज़ारी, आधा इंजेक्शन लगाते और आधा…

Remedesivir injection
image source - google

सरकारी मेडिकल विभाग में कमाई का खेल इस कदर हावी है कि उसे न तो सरकार का डर है और न ही अपने प्रशासनिक अधिकारियों की सख्ती का जिसका ताजा सबूत है, कानपुर क्राइम ब्रांच टीम की उस वक्त की कार्रवाई का जब टीम के जवानों ने हैलट हॉस्पिटल दो कर्मचारियों को वैक्सीन की कालाबाजारी करते वक्त रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

जिसके बाद पूछताछ और मिले सबूतों के आधार पर ज्ञात हुआ कि गिरफ्तार किए गए कर्मचारी हैलट अस्पताल में बतौर वार्ड ब्याय के पद पर कार्यरत है। जो कोरोना मरीजों को दिए जाने वाले रेमडीसीवीर इंजेक्शन में खेल का जेम करने में जुटे हुए थे।

जिसके चलते उक्त कर्मचारी मरीज को दिए जाने वाले इंजेक्शन के डोज का आधा डोज दिया करते थे। बाकी आधे डोज को ब्लैक करते थे। जिसके आधार पर क्राइम ब्रांच की टीम ने गिरफ्तार वार्ड ब्याय की निशादेही पर दो और लोगों को हिरासत में लिया है। जो हैलट अस्पताल में प्राइवेट कर्मचारी के पद पर कार्यरत थे।

Noida: कोरोना संक्रमित माता-पिता के बच्चों का ध्यान रखने के लिए हेल्पलाइन नंबर पुलिस ने किया जारी

जिनसे पूछताछ में मालूम हुआ कि आधे इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के दौरान वह दस हजार से बीस हजार रुपये एठने का काम करते थे। इस खुलासे के बाद जिले के कमिश्नर असीम अरुण के निर्देशानुसार स्वरूप नगर थाने में गिरफ्तार लोगो के खिलाफ एफआईआर करके जेल भेजने की तैयारी कर ली गयी है। साथ ही क्राइम ब्रांच की टीम इनके गैंग में शामिल अन्य लोगो की तलाश में जुट गई है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here