अमेठी : फर्जी तरीके से खातों से पैसे उड़ाने वाले 4 बड़े अपराधी गिरफ्तार…

Amethi

अमेठी:। पुलिस की SOG टीम साइबर सेल थाना गौरीगंज की पुलिस को उस वक्त बड़ी सफलता हाथ लगी,जब वह अपराध तथा अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान के क्रम में मुखबिर की सूचना पर जनपद मुख्यालय गौरीगंज में स्थापित बैंक ऑफ बड़ौदा के ATM के पास से ATM कार्ड की क्लोनिंग कर खातों से रुपए निकालने वाले 4 अंतरराज्यीय साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार हुए अपराधियों के कब्जे से एक Swift Desire कार जिसमें 4 अभियुक्त मौजूद थे तथा उनके पास से 13 अदद ATM कार्ड 1 अदद laptop , 1 अदद एटीएम कार्ड क्लोनिंग मशीन (Skimmer Device) तथा फर्जी तरीके से निकाले गए 94 हजार रुपए नगद बरामद किया। सभी गिरफ्तार हुए अभियुक्तों के खिलाफ थाना गौरीगंज में सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करते हुए जेल भेजा जा रहा है। जबकि इनके तीन अन्य साथी जो लालगंज तहसील जनपद प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं जो फरार है। अमेठी पुलिस इनकी तलाश कर रही है और शीघ्र ही उनकी भी गिरफ्तारी सुनिश्चित करेगी।

दिनेश सिंह पुलिस अमित अधीक्षक के निर्देशन तथा अपर पुलिस अधीक्षक दयाराम सरोज के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर के कुशल नेतृत्व में साइबर अपराधियों की धरपकड़ हेतु चलाए जा रहे अभियान के क्रम में आज 27 अगस्त को प्रभारी निरीक्षक गौरीगंज देवेश कुमार सिंह की टीम तथा एसओजी प्रभारी विनोद यादव की टीम के साथ साइबर सेल की टीम द्वारा गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों से पूछताछ में पता चला कि उनकी टीम सर्वप्रथम भीड़भाड़ वाले एटीएम को चिन्हित करती थी । जिसके बाद एटीएम कार्ड का प्रयोग करने में अक्षम व्यक्तियों जैसे महिला, बुजुर्ग, अनपढ़ आदमी को अपना शिकार बनाते थे।

ऐसे देते थे लोगों को चकमा

सबसे पहले वह उनके पास खड़े होकर मदद करने के बहाने उनका एटीएम कार्ड लेकर बड़ी चालाकी से स्कीमर डिवाइस में लगाकर स्कैन कर लेते हैं तथा उसी समय दूसरे साथी उस अन्य व्यक्ति द्वारा एटीएम का प्रयोग करते समय उपयोग में लाए गए पिनकोड को देखकर याद कर लेता था। इसके बाद उनके द्वारा अनभिज्ञ व्यक्ति को एटीएम कार्ड वापस कर वह लोग चले जाते थे। उसके अन्य साथी कहीं आस-पास चार पहिया वाहन लेकर मौजूद रहते थे जिसमें एटीएम क्लोनिंग करने के तमाम उपकरण साथ में मौजूद रहते थे। उनके द्वारा स्कैन किए गए एटीएम कार्ड के डाटा को एटीएम राइटिंग मशीन की सहायता से पुराने व चोरी किए गए एटीएम में लैपटॉप की सहायता से प्रयोग कर पूरा कर लिया जाता था ।

एटीएम क्लोनिंग के बाद उनके द्वारा अन्य किसी दूर दूसरे एटीएम मशीन से क्लोन किए गए एटीएम वह देखे गए पिनकोड की सहायता से रुपयों को निकाल लिया जाता था। इस प्रकार यह गैंग सीधे-साधे और भोले-भाले लोगों को अपना निशाना बनाती थी ।

पकड़े गए 4 अभियुक्तों में से एक अभियुक्त का नाम लव कुमार जनपद कैमूर भभुआ बिहार प्रांत का निवासी है,वहीं दूसरा व्यक्ति आकाश तिवारी जनपद प्रतापगढ़ का निवासी है तथा तीसरा अभियुक्त धनंजय कुमार माली जनपद कैमूर भभुआ बिहार प्रांत का रहने वाला है और चौथा धर्मेंद्र माली जनपद चंदौली का रहने वाला है। इन लोगों से पूछताछ में इनके 3 अन्य फरार साथी के भी नाम प्रकाश में आए हैं । जो पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ पाए हैं फिलहाल पुलिस इन तीनों की भी तलाश कर रही है। फरार साथियों में तीनों जनपद प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। अमेठी पुलिस के द्वारा इन तीनों की तलाश की जा रही है शीघ्र ही इनकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

रिपोर्ट:-आदित्य तिवारी…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here