ट्रंप के इस फैसले पर गूगल सीईओ सुंदर पिचाई ने जताई आपत्ति

donald trump bans h1b visa
image source - google

पूरी दुनिया में इस समय कोरोना वायरस फैलता जा रहा है और अभी तक सबसे ज्यादा इसका असर अमेरिका पर पड़ा है। जिसकी वजह से करोड़ों लोगों की नौकरियां चली गई है और बेरोजगारी बढ़ रही है। इस बीच ट्रंप ने ऐसा फैसला लिया है जिससे अमेरिका सहित दुनिया भर के देशों पर प्रभाव पड़ेगा।

दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने H1-B वीजा के साथ-साथ अन्य सभी तरह के वीजा का सस्पेंशन इस साल के अंत तक के लिए आगे बढ़ा दिया है। अब H1-B विजा अप्रैल लॉटरी में जिनका स्वीकृत हुआ था। अब उन्हें भी अनुमति नहीं है। सूत्रों के अनुसार डॉनल्ड ट्रंप द्वारा उठाए गए इस कदम से अमेरिका में करीब 5 लाख 25 हजार पद खाली हो जाएंगे और इन पदों पर अमेरिकी लोगों को रोजगार दिया जाएगा।

सुंदर पिचाई ने जताई आपत्ति

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा उठाए गए इस कदम पर ही गूगल सीईओ सुंदर पिचाई जो कि भारतीय मूल के हैं। उन्होंने आपत्ति जताई है। सुंदर पिचाई ने ट्वीट कर लिखा कि प्रवासियों की वजह से ही अमेरिका को इतना फायदा हुआ है। उन्ही की वजह से आज अमेरिका वैश्विक टेक लीडर बना और गूगल की कंपनी भी है। हम सभी प्रवासियों के साथ खड़े रहेंगे और सभी के लिए अवसर का विस्तार करने के लिए काम करेंगे।

h2b वीजा के अतिरिक्त सभी वीजा के सस्पेंशन से भारतीयों पर ज्यादा प्रभाव पड़ेगा। अमेरिका मे दुनिया भर के देशों के लोग काम करने के लिए जाते हैं और इनमें सबसे ज्यादा लोग भारत से होते हैं। इसलिए ट्रम सरकार द्वारा उठाए गए कदम से भारतीय लोगों पर ज्यादा असर पड़ेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here