यूपी: प्रवासियों की घर वापसी के साथ रोजगार देने के भी इंतजाम

UP Government arranged for employment of migrants
image source - google

इस समय प्रतिदिन उत्तर प्रदेश 35 से 40 ट्रेनें प्रवासियों को लेकर पहुंच रही हैं। अभी तक आठ लाख से ज्यादा प्रवासियों को देश के विभिन्न राज्यों से वापस लाया जा चुका है। इन सभी को क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया है। जांच के साथ ही यूपी सरकार इन सभी का डाटा भी एकत्रित कर रही है। जिससे इनको इनके गृह जनपद में ही रोजगार उपलब्ध कराया जा सके।

यूपी सरकार लेबर रिफॉर्म कानून ला रही है। जिसके तहत प्रवासी, श्रमिकों और मजदूरों को उनके स्किल्स के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। इसमें काम के घंटों और सुरक्षा के गारंटी के साथ न्यूनतम 15 हजार का वेतन भी योगी सरकार देगी। इससे प्रवासियों को बड़ी राहत मिलेगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में अपने सरकारी आवास पर टीम 11 के साथ बैठक में कहा की स्पेशल ट्रेनों द्वारा वापस लाए जा रहे लोगों की सुरक्षित व सम्मानजनक वापसी के साथ ही हर संभव मदद की जाए। बता दें 14 दिनों का टाइम पूरा करने के बाद प्रवासियों को उनके घर राशन किट और 1000 रुपए देखकर भेजा जाएगा और इन्हें पुनः ओम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा।

विदेश में फंसे भारतीयों को आज वापस लेकर पहेली फ्लाइट लखनऊ पहुंचेगी। इस फ्लाइट में यूपी के विभिन्न जिलों के लोग हैं। एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के बाद स्वस्थ लोगों को होम क्वॉरेंटाइन किया जाएगा। जबकि जिनमें कोरोनावायरस लक्षण पाए गए, उनको पूरी जांच के बाद आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here