अपराधों को रोकने के लिए पुलिस ने कसी कमर

शहर में लगातार हो रही अपराधिक घटनाओ को रोकने व अपराधियों पर नकेल कसने के लिये पुलिस ने कमर कस ली है। आज पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेश चंद्र रावत जी ने अपने कार्यालय में एक महत्वपूर्ण बैठक की जिसमें थाना हुसैनगंज ,हज़रतगंज गौतमपल्ली, व महिला थाना के अधिकारियों के साथ लम्बित विवेचनाओ की समीक्षा की गयी।

बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर काबू पाने को लेकर शुक्रवार को नगर थाना के सभी पुलिस पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की । बैठक में पाया गया कि नगर थाना क्षेत्र में लगातार छिनतई, लूट व चोरी की घटनाएं हो रही है। औसतन प्रत्येक माह 20 बाइक की चोरी हो रही है। लेकिन पुलिस की तरफ से केस दर्ज करने के अलावा और कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। सक्रिय अपराधियों की गिरफ्तारी में नगर पुलिस की रुचि नहीं दिख रही है।

लखनऊ : तीन साल में कम हो गयी हैं अपराध की घटनाएं

कई पुलिस पदाधिकारियों की कार्यशैली पर भी सुरेश रावत ने सवाल उठाए। उन्होंने थानेदार समेत सभी पुलिस पदाधिकारियों को चेतावनी देते हुए कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए। हाल की चर्चित लूट, छिनतई व अन्य संगीन घटनाओं की समीक्षा में पाया गया कि आइओ द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है। सभी का अपडेट लेने के बाद सुरेश रावत ने कहा ने कहा कि हर हाल में क्राइम रोकने को लेकर अभियान चलाना सुनिश्चित करें। लंबित वारंट व कुर्की का त्वरित गति से निष्पादन करें।

पुलिस अधीक्षक महोदय ने सभी को निर्देशित किया कि 3 माह से पहले की सारी लम्बित विवेचनाओ को प्राथमिकता देते हुये उसका निस्तारण किया जाये। विवेचना में जो भी अपराधी हो उसको तत्काल गिरफ़्तार किया जाये। हिस्ट्रीशीटरो पर नज़र रखी जाये, क्षेत्र में कोई भी अपराधिक घटना ना हो इसके लिये प्रभावी गश्त तेज़ की जाये। सुरेश चंद्र रावत हमेशा अपने मातहत को ऊर्ज़ा देने का काम करते रहते हैं। सुरेश ने कहा की ज़रुरत है हर प्वाइन्ट पर पुलिस को चौकन्ना रहने की और मुस्तैदी के साथ ड्यूटी करने की क्यों कि हाल के दिनों में अपराधियों के हौसले बुलन्द हुये हैं ।