बदायूं: पुलिस के इस कार्य से परेशान युवक ने उठाया ऐसा खौफनाक कदम

badaun crime news
badaun crime news

बदायूँ। यूपी के बदायूं जिले से राजकीय मेडिकल कॉलेज की बड़ी लापरवही सामने आई है, जहाँ एक कोरोना संक्रामित मरीज ने कोविड अस्पताल की खिड़की से कूद कर आत्महत्या कर ली। मृतक व्यक्ति को पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोप में  गिरफ्तार किया था और जेल मे दाखिले से पहले उसका मेडिकल करवाया गया था जिसमे उसकी कोरोना  रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। मृतक के परिजनों ने हॉस्पिटल और पुलिस विभाग पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाए हैं।

जाने क्या था पूरा मामला 

मामला राजकीय मेडिकल कॉलेज में बने कोविड अस्पताल का है जहां नरेश शर्मा (56)नाम के एक कोरोना संक्रामित ने तीसरी मंजिल के खिड़की से कूद कर आत्महत्या कर ली।नरेश शर्मा को 7 सितंबर को थाना फैजगंज बहेटा पुलिस छेड़छाड़ के मामले में गिरफ्तार करके लायी थी और कोविड टेस्ट में संक्रामित पाए जाने पर उनको अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

मृतक के परिजनों का पुलिस पर आरोप

मृतक नरेश शर्मा के भतीजे सिद्धार्थ उपाध्याय में पुलिस पर आरोप लगाया है की राजनीतिक दबाव के चलते उनके मामा  खिलाफ पुलिस ने एक झूठा मुकद्दमा दर्ज किया था और आज उनको पुलिस ने जानकारी दी कि नरेश शर्मा की मृत्यु हो गई है। लेकिन वजह नही बताई गई।

Siddharth Upadhyay, nephew of the deceased
Siddharth Upadhyay, nephew of the deceased

सुबह जब बे अस्पताल आये और लोगो से जानकारी की तो पता चला कि उन्होंने अस्पताल की तीसरी मंजिल से कूद कर आत्महत्या कर ली है। परिजनों ने यह भी आरोप लगाया है की जब उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था उसके बाद उनकी तबियत में सुधार था और जब उन्होंने  सुबह आत्महत्या की थी तो उन्हें इसबात की जानकारी तुरंत क्यों नहीं दी गई रात में सूचना देने का क्या मतलब था जब उनकी मृत्यु सुबह हो गई थी।

जिलाधिकारी ने  दिया ऐसा बयान 

जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने बताया कि नरेश शर्मा को पुलिस ने छेड़छाड़ के मामले में अरेस्ट किया था। कोविड टेस्ट में पॉजिटिव आने के बाद उनको कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया था उनकी सुरक्षा में पर्याप्त फोर्स लगाईं गई थी। बीते दिन उन्होंने बाथरूम में जाकर दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। मेडिकल स्टाफ ने दरवाज़ा खुलवाने का प्रयास किया तो उन्होंने कह दिया अभी बाहर आ रहा हूँ।

DM Kumar Prashant
DM Kumar Prashant

जब आधे घंटे तक नही निकले तो दरवाजा खोला गया तो देखा चादर को खिड़की से लटकाकर भागने का प्रयास किया और नीचे गिर गए जिससे उनके सर में चोट आई थी ।घायल होने के बाद उनका इलाज किया जा रहा था और पांच घंटे के बाद उनको कार्डियक अटैक हुआ और उनकी मौत हो गई। पोस्टमार्टम में भी इसकी पुष्टि हुई है।

रिपोर्ट- नियांजी खान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here