लगभग 9 सालों तक दहेज़ के लिए बहू से करते रहे मारपीट और अब…

kill Bahu for dowry
image source - google

मुरादाबाद महानगर थाना क्षेत्र की रहने वाली दिलबरी बेगम ने अपनी बेटी की शादी मुरादाबाद निवासी सलीम के साथ बर्ष 2012 में मुस्लिम रीति रिवाज के साथ कि थी। शादी में दिलबरी बेगम ने अपनी बेटी को अपनी हैसियत के हिसाब से दान दहेज देकर विदा किया था पर इस दान दहेज से बेटी के सुसराल वाले खुश नही थे बह शादी के बाद से ही दिलबरी बेगम की बेटी के साथ मार पीट करते चले रहे थे।

इस मार पीट से दिलबरी बेगम की बेटी बीमार रहने लगी जिसका इलाज पहले तो मुरादाबाद के निजी अस्पताल में कराया गया। लेकिन बेटी की हालत में जब कोई सुधार नही हुआ तो दिलबरी बेगम उसको इलाज के लिए दिल्ली ले गई जंहा इलाज के दौरान उसकी आज मौत होगई है।

मोत से पहले नूर शबाना ने अपने ससुराल वालों की हकीकत बताकर कर उनके जुल्मो सितम की कहानी खुद बताई जो काफी डरावनी है। जिनके घर बेटियां है उन माँ बाप को ये सोचने के लिए जरूर मजबूर कर दिया है कि ईश्वर अगर बेटी दे तो उसका नसीब भी अच्छा दे नही तो बेटी न दे।

पति ने की थी पत्नी के लापता होने की शिकायत, घर पहुंची पुलिस तो उड़े होश

वैसे तो दिलबरी बेगम ने महिला थाने की पुलिस पर भी आरोप लगया है कि हम ने महिला थाने में बिते दिनों अपनी बेटी के साथ हो रहे ससुराल वालों के अत्यचार ओर दहेज की मांग का मुकदमा दर्ज कराया था पर महिला थाने की पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नही की ओर आज उसका नतीजा ये निकलाव के मेरी बेटी को अपनी जान से जाना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here