जानिए क्या था उन्नाव गैंगरेप का पूरा मामला

google

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में हुए हादसे का खुलासा हो गया है। दरसल उन्नाव जिले के बिहार थाना क्षेत्र के हिंदूनगर भाटनखेडा गांव के रहने वाले शिवम त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी ने 12 दिसंबर 2018 को गाँव की एक युवती को अगवा करके रायबरेली जिले के लालगंज थाना क्षेत्र में ले जाकर उसका गैंगरेप किया था।

एक साल पहले का मुकदमा 

इस घटना के बाद युवती और उसके परिजनों ने इस मामले की एफआईआर रायबरेली जिले के थाना लालगंज में लिखवाई थी। जिसके बाद दोनों आरोपियों की गिरफ्तार कर लिया गया था। अभी तक इस मामले की रायबरेली कोर्ट में  सुनवाई चल रही है।

युवती द्वारा केस न वापस लेने पर किया हमला 

युवती का कहना है की वे सभी आरोपी मुकदमा वापस लेने के लिए लगातार उस पर दबाव बना रहे थे। इस दौरान जब उसने मुकदमा वापस नहीं लिया तो हमलावरों ने जान से मारने की कोशिश की। गौरा मोड़ के पास गुरुवार की सुबह में गैंगरेप पीड़िता को आरोपितों ने पांच लोगों संग मिलकर जिंदा जलाने का प्रयास किया। वारदात को उस समय अंजाम दिया गया जब पीड़िता मुकदमे की तारीख पर रायबरेली के लिए ट्रेन पकड़ने जा रही थी।

सुबह 4 बजे घर से निकली थी युवती 

यह मामला बीजेपी के बर्खास्त विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से जुड़ा हुआ नहीं है। दरअसल आज सुबह 4 बजे पीड़िता उसी मुक़दमे सुनवाई के लिए रायबरेली कोर्ट जा रही थी। रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकडने बैसवारा स्टेशन के लिए निकली थी। तभी अचानक उन्ही आरोपियों ने युवती को अगवा कर उसको चाकू, डंडे और अन्य हथियारों से मारा। तथा उसके ऊपर पेट्रोल डाल कर उसको जिन्दा ही जला दिया।

आरोपियों ने किया जानलेवा हमला 

इस सारी घटना को देखने और सुनने से ये साफ पता चल रहा है की सभी आरोपियों ने युवती पर जानलेवा हमला किया था। लेकिन उनकी ये कोशिश नाकाम रही। हलांकि पीड़िता की हालत गंभीर होने पर उसे कानपुर रेफर किया गया है। उसके बाद उसकी हालत बिगड़ने से उसको लखनऊ सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उन्नाव गैंगरेप मामले को लेकर योगी पर भड़के सुनील साजन

90 % से ज्यादा जल चुका है युवती शरीर

इस दौरान बताया जा रहा है की पीड़िता को हर संभव बचाने का प्रयास पीड़िता किया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक पीड़िता को लगभग 10:30 बजे लखनऊ के सिविल अस्पताल लाया गया था। डॉक्टर प्रदीप तिवारी का कहना है की पीड़िता का इलाज जारी है। लेकिन पीड़िता का शरीर 90 % से ज्यादा जल चुका। पीड़िता की हालत गम्भीर है। हालाँकि पीड़िता को प्राथमिक उपचार देने के बाद अब स्थिति ठीक है।

युवती अब दिल्ली किया जायेगा रेफर 

उन्नाव मामले में पीड़िता के परिजन को लेकर पुलिस सिविल अस्पताल पहुँची। पीड़िता की हालत गंभीर होने की वजह से उसको आज शाम तक दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल जाया जायेगा। आपको बता दे की पीड़िता को दिल्ली भेजने के लिए एअरलिफ्ट कराने की तैयारी शुरु कर दी गई है। सूत्रों के मुताबिक पीड़िता को एयर एंबुलेंस से दिल्ली ले जाया जाएगा। इसके साथ ही लखनऊ पुलिस को ग्रीन कॉरिडोर बनाने के लिए निर्देश दिए गए है। इसके साथ ही सिविल अस्पताल से लेकर एयरपोर्ट तक ग्रीन कॉरिडोर की ड्यूटी लगाई जा रही है।