लगातार भारतीय सेना की ताकत में वृद्धि, अब अमेरिका से हुआ बड़ा सैन्य सौदा

Defense deal in Modi government
image source - google

बीते कुछ वर्षों में भारतीय सेना की ताकत में काफी वृद्धि हुई है। जोकि कहीं ना कहीं बहुत आवश्यक भी था।

• 72000 अमेरिकी सिग सार असोल्ट राइफल का सौदा
• रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक
• पिछले 6 सालों में भारत की तीनों सेनाओं की ताकत बढ़ी
• भारत ने रूस, फ्रांस, इजरायल, अमेरिका समेत कई देशों से किये रक्षा सौदे
• लड़ाकू विमान, राइफल, मिसाइल समेत कई रक्षा उपकरण मिले सेना को

अब एक और बड़ा रक्षा सौदा अमेरिका और भारत के बीच हुआ है। जिसके तहत 72000 अमेरिकी सिग सार असोल्ट राइफल समेत कई साजो-समान भारतीय सेना को मिलेंगे।

कल सोमवार को रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में हुई बैठक में Defence Acquisition Procedure (DAP) 2020 हथियारों की खरीद को मंजूरी दी गई। इस दौरान सीडीएस बिपिन रावत, सेना प्रमुख एमएम नरवाडे, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख कर्मवीर सिंह मौजूद रहे।

पिछले कुछ सालों में सेना को मिले यह युद्ध उपकरण

पिछले 6 सालों में भारत की तीनों जल, थल और वायु सेनाओं की ताकत में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। भारत ने रूस, फ्रांस, इजरायल, अमेरिका समेत कई देशों से रक्षा सौदे किए। जिसके तहत सेना को आधुनिक उपकरण मिले हैं।

1. रूस – 21 मिग-29, 12 सुखोई, सुखोई – 30
2. फ्रांस – 36 राफेल लड़ाकू विमान
3. इजराइल – स्पाइस – 2000 बम का एडवांस वर्जन
4. रुस – एस 400 मिसाइल
5. अमेरिका – 72400 असाल्ट राइफल
6. रूस – अपाचे हेलीकॉप्टर, 200 कमोव हेलीकॉप्टर
7. अमेरिका – 72000 असाल्ट राइफल
8. अमेरिका – 2290 करोड़ रुपए के विभिन्न साजो समान

इसके अलावा भारत में बनाए गए कई रक्षा उपकरण भारतीय वायु सेना को मिले हैं। जैसे डीआरडीओ द्वारा बनाया गया ध्रुवअस्त्र मिसाइल, एचएसटीडीवी, लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल आदि।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here