खुदरा और थोक व्यापारियों पर पड़े कोरोना के असर को देखते हुए केंद्र ने लिया बड़ा फैसला

Retail and Wholesale Traders
image source - google

कोरोना काल की वजह से खुदरा और थोक व्यापारियों पर बड़ा असर पड़ा था। जिसे देखते हुए केंद्र सरकार इसे MSME में लाने की तैयारी कर रही है। इसकी जानकारी खुद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दी।

उन्होंने कहा कि कोविड के दूसरे वेव के कारण आई दिक़्क़तों से खुदरा और थोक व्यापारियों पर पड़े असर को ध्यान में रखते हुए अब इसे MSME (Micro, Small and Medium Enterprise) के दायरे में लाने का फ़ैसला किया गया है। प्रायोरिटी सेक्टर लेंडिंग के अंतर्गत इस सेक्टर को लाकर सहायता पहुँचाने की कोशिश की जा रही है।

दिल्ली: DRDO और L&T द्वारा तैयार किए ’12 Short Span Bridging System’ सेना में हुए शामिल

अब खुदरा और थोक व्यापारी भी उद्यम रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे, 2.5 करोड़ से अधिक व्यापारियों को इसका लाभ मिलेगा। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हम MSME को देश के इकोनॉमिक ग्रोथ का इंजन बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here