दिल्ली: DRDO और L&T द्वारा तैयार किए ’12 Short Span Bridging System’ सेना में हुए शामिल

Short Span Bridging System Incorporated in Army

आज भारतीय सेना में 12 शॉर्ट स्पैन ब्रिजिंग सिस्टम’ को शामिल किया गया है। शॉर्ट स्पैन ब्रिजिंग सिस्टम’ को आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत बनाया गया है। इसकी मदद से भारतीय सेना को काफी आसानी होगी।

सेनाध्यक्ष ने बताया, “आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य की तरफ़ यह सफल कदम है। इसको बनाने वाले मैं सभी लोगों की सरहाना करता हूं। इसके सेना में शामिल होने से सेना की ताक़त बढ़ेगी।”

भारतीय सेना के इंजीनियर-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल हरपाल सिंह हमारे पास पहले फिक्स्ड स्पैन के ब्रिजेस होते थे और जो 10-30 मीटर के इंटरमीडिएट गैप होते थे उसको हम ब्रिज नहीं कर पाते थे। इसलिए ये पूरा ब्रिज सिस्टम बनाया गया और अब हम 5-75 मीटर तक के नहरे को ब्रिज कर सकते हैं।

मुख्तार अंसारी की मुश्किलें और बढ़ीं, मनी लांड्रिंग केस में ईडी ने कसा शिकंजा

आपको बता दें Short span bridging system एक आधुनिक तकनीक है। जिसकी मदद से नदी, नहर, नालों पर पुल्ल 10 मिनट में बनाया जा सकता है। इसको सेना और DRDO के इंजीनियर ने मिलकर तैयार किया है। इसे बनाने में 492 करोड़ रूपए की लगत लगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here