पीवी सिंधु ने गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास, 2017 की हार का लिया बदला

भारत की बैटमिंटन खिलाडी पीवी सिद्धू ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। 24 साल की पीवी सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को वर्ड बैटमिंटन चैंपियनशिप – 2019 में हराकर खिताब अपने नाम कर लिया है।

पीवी सिंधु पहली भारतीय खिलाड़ी हैं, जिन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है। बीडब्लूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप का ये फाइनल मुकाबला 37 मिनट तक चला जिसमे पीवी सिंधु ने नोजोमी ओकुहारा को 21,7 21,7 करारी शिकस्त देकर खिताब अपने नाम कर लिया।

2107 की हार का लिया बदला

पीवी सिंधु वर्ल्ड रैंकिंग में 5वें नंबर पर काबिज़ हैं। तथा जापान की खिलाडी एक पायदान ऊपर यानि 4 नंबर पर हैं। जापान की इस स्टार खिलाडी ने साल 2017 में पीवी सिंधु को इसी टूर्नामेंट के फ़ाइनल में हरा दिया था।

बंगाल वरियर्स ने जीता प्रो कबड्डी लीग-7 का खिताब

लेकिन अबकी बार इस भारतीय खिलाड़ी ने जापान की खिलाड़ी को धूल चटा दी। पीवी सिंधु से पहले न तो किसी महिला ने यह ख़िताब जीता है और न ही किसी पुरुष ने यह ख़िताब अपने नाम किया है। पीवी सिंधु का यह लगातार तीसरा फ़ाइनल मुकाबला था जिसमे वो पहुंची थीं।

इससे पहले भी वह 2017 तथा 2018 का फ़ाइनल खेल चुकी हैं। जिसमे उनको हार झेलनी पड़ी थी और रजत पदक से संतोष करना पड़ा था। इसके अतिरिक्त उन्होंने 2013 तथा 2014 में भी कांस्य पदक जीता था। इस तरह सिंधु ने अब तक कुल पांच मेडल जीता है।

पीवी सिंधु का कैरियर

पीवी सिंधु ने अपने बैटमिंटन खेल के करियर में कुल 312 जीत दर्ज की हैं जबकि 129 मुकाबलों में उनको हार का सामना करना पड़ा। पीवी सिंधु दाहिने हाथ की खिलाड़ी हैं और उनके कोच पुलेला गोपीचंद हैं।

पीवी सिंधु ने क्वार्टर फ़ाइनल तथा सेमी फ़ाइनल में अच्छा प्रदर्शन किया था। इस ऐतिहासिक जीत के बाद पीवी सिंधु ने कहा कि  “मैं बहुत खुश हूँ, इस ऐतिहासिक जीत का काफी लम्बे समय से इन्तिज़ार कर रही थी और अंततः मैं वर्ल्ड चैंपियन बन गई।”  ख़ुशी ज़ाहिर करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं। पिछली बार मैंने सिल्वर मेडल जीता था लेकिन अब मैं वर्ल्ड चैंपियन बन गई हूँ। 

ट्वीट करके लोग दे रहे हैं बधाई

पीवी सिंधु कि इस जीत पर बहुत से खिलाड़ियों और नेताओं ने ट्वीट करके उनको बधाई दी है। पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा कि ” सिंधु ने एक बार फिर भारत को गौरवान्वित किया है। मेडल जीतने पर सिंधू को बहुत बहुत बधाई। जिस जुनून और समर्पण से उन्होंने बैडमिंटन खेला है, वह प्रेरणा देने वाला है।”

इसके अलावा पूर्व भारतीय खिलाडी सचिन तेंदुलकर तथा वीरेंद्र सेहवाग समेत कई खिलाडियों ने उनको बधाई दी। टेनिस खिलाडी सानिया मिर्ज़ा ने भी पीवी सिंधु को जीत की मुबारकबाद दी है।