यूपी में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुई राजकुमारी रत्ना सिंह

  • तीन बार प्रतापगढ़ से कांग्रेस सांसद रह चुकी हैं रत्ना सिंह। 
  • गांधी परिवार की सबसे करीबी मानी जाती थी रानी रत्ना सिंह। 
  • कांग्रेस में विदेश मंत्री रहे दिनेश सिंह की पुत्री हैं राजकुमारी रत्ना सिंह। 
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिलाई भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता। 

उत्तर प्रदेश में जहां एक तरफ प्रियंका गांधी ने कांग्रेस को मजबूत करने के लिए बागडोर संभाली है और नए प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह लल्लू को कांग्रेस की कमान सौंपी है वहीं दूसरी तरफ आज उत्तर प्रदेश कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। प्रतापगढ़ में आयोजित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जनसभा में आज राजकुमारी रत्ना सिंह को भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता दिलाई गई। सूत्रों की मानें तो लगातार यह कवायद चल रही थी कि कांग्रेस को झटका देकर भाजपा का कमल अपनाएंगे राजकुमारी रत्ना सिंह, लेकिन खबरों से हमेशा इंकार करती आई थी राजकुमारी रत्ना सिंह।

रायबरेली: कांग्रेस को धार देने के लिए प्रियंका का न्यू प्लान

प्रियंका गांधी के सक्रिय होने के बावजूद उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को एक के बाद एक झटकों का सिलसिला जारी है। प्रतापगढ़ में पूर्व सांसद और गांधी परिवार की करीबी मानी जाने वाली रत्ना सिंह ने पार्टी छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया है। खास बात यह है कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई। इसे कांग्रेस के लिए बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है। बता दें कि प्रतापगढ़ विधानसभा सीट पर 21 अक्टूबर को उपचुनाव है।प्रतापगढ़ की पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता राजकुमारी रत्ना सिंह ने अपने समर्थकों के साथ आज यूपी के सीएम योगी की उपस्थिति में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की।

चुनाव प्रचार में पहुंचे थे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

प्रतापगढ़ के गड़वारा में सीएम योगी एक जनसभा को संबोधित करने पहुंचे थे। चुनावी जनसभा के मंच से ही रत्ना सिंह के बीजेपी में शामिल होने की घोषणा की गई। इस मौके पर उनके पुत्र भुवन्यु सिंह भी मौजूद रहे। आपको बताते चले कि लगातार रत्ना सिंह के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की खबरें आ रही थी लेकिन उन्होंने इन खबरों का खंडन किया था।