उन्नाव रेप केस में विधायक कुलदीप सेंगर पर से हटा हत्या का आरोप

  • चालक पर किसी की जान जोखिम में डालकर चोट पहुंचाने तथा लापरवाही से वाहन चलाने का लगा आरोप
  • 9 लोगों पर आपराधिक साज़िश, हत्या, हत्या के प्रयास तथा डराने-धमकाने के लगे थे आरोप

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में बलात्कार पीड़ित महिला के साथ हुए एक सड़क हादसे के मामले में सीबीआई ने चार्जशीट फाइल कर दिया है। इस हादसे में बलात्कार पीड़ित महिला के वकील को गंभीर रूप से छोटे लगी थीं जबकि महिला के एक परिजन की मौत हो गई थी जिसकी हत्या का आरोप विधायक कुलदीप सेंगर पर लगा था।

सीबीआई कोर्ट में दाखिल चार्जशीट में कुलदीप सेंगर और उसके सहयोगियों पर से हत्या का आरोप हटा दिया गया है और सारे आरोप ट्रक चालक पर ही लगाए हैं। लखनऊ की विशेष सीबीआई अदालत में दाखिल हुए पहले आरोप पत्र में सेंगर सहित 9 लोगों पर आपराधिक साज़िश, हत्या, हत्या के प्रयास तथा डराने-धमकाने के सम्बन्ध में आरोप लगाए गए थे।

उन्नाव रेप केस का खुलासा, कुलदीप सेंगर को न्यायिक हिरासत में भेजा

सेंगर ने 2017 में नाबालिग महिला का बलात्कार किया था जिसके पश्चात सेंगर को बीजेपी से निकाल दिया गया था। रायबरेली में पीड़ित महिला की कार का 28 जुलाई को ट्रक से एक्सीडेंट हो गया था। वह जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। अधिकारियों ने बताया है कि ट्रक चालाक आशीष कुमार पाल की लापरवाही से हादसा हुआ है। ट्रक चालक पर किसी की मौत की वजह बनने, किसी की जान जोखिम में डालकर गंभीर चोट पहुंचाने तथा लापरवाही से वाहन चलाने के संबद्ध में आरोप लगाया गया है। सीबीआई के आरोप पत्र में चालक पर आपराधिक षणयंत्र रचने का कोई भी आरोप नहीं लगाया है।