कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अमित शाह के आवास पर किया विरोध प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश की कांग्रेस पार्टी के गाँधी परिवार को स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स की सुरक्षा पूर्व पीएम राजीव गाँधी की हत्या होने के बाद दी गयी थी। खबर के अनुसार केंद्र सरकार ने गाँधी परिवार से स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स की सुरक्षा हटाने का फैसला लिया गया है। केंद्र सरकार के इस फैसले से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में आक्रोश फैला हुआ है।इस दौरान गांधी परिवार के एसपीजी कवर को वापस लेने पर सरकार के फैसले के खिलाफ गृह मंत्री अमित शाह के आवास के पास कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया।

सरकार मानना है की सोनिया गाँधी,प्रियंका गाँधी व राहुल गाँधी की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने पर पाया गया की गाँधी परिवार को अब कोई खतरा नहीं है। इसलिए एसपीजी सुरक्षा को हटाने का फैसला लिया गया है। बात दे की इस सुरक्षा के हटने के बाद गाँधी परिवार को Z-प्लस सुरक्षा दी जाएगी। इससे पहले मोदी सरकार ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव करते हुए एसपीजी सुरक्षा को हटा दिया था। अब सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी के पास ही स्पेशल प्रोटेक्शन फोर्स की सुरक्षा है।

केंद्र सरकार ने गाँधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने का निर्णय लिया

वेणुगोपाल ने केंद्र सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए कहा की ​​भारत के दो पूर्व पीएम, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी जिसके बाद अटल बिहारी बाजपेई ने गाँधी परिवार को एसपीजी कवर देने के लिए कानून में संशोधन किया था। तो फिर मोदी और शाह ने इस सुरक्षा को गांधी परिवार से क्यों हटा दिया।