अब यह सुरक्षा केवल प्रधानमंत्री के पास ही रहेगी, जानें क्या ख़ास है इस सुरक्षा में

spg security
image source google

अभी हम आपको जिस सुरक्षा के बारे में बताने जा रहे हैं वह सुरक्षा केवल इस समय देश में सिर्फ प्रधानमंत्री के ही पास है यह सुरक्षा है एसपीजी। जी हाँ इस सुरक्षा का नाम है SPG कवर। आपको बता दें की इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के बाद मौजूदा सरकार ने गाँधी परिवार से यह सुरक्षा वापस ले ली है। जिसके बाद से अब यह सुरक्षा अब मात्र पीएम मोदी के पास ही है। यह एसपीजी सुरक्षा भारत देश की सबसे मजबूत सिक्यॉरिटी कवर है।

एसपीजी का इतिहास –

एसपीजी सुरक्षा का गठन 1985 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी निधन के बाद हुआ था। इसके बाद 1988 में पार्ल्यामेट में एसपीजी ऐक्ट 1988 पास किया गया था, जिसका उद्देश्य प्रधानमंत्री के सुरक्षा चक्र को मजबूत करना था। और 1991 में राजीव गांधी की हत्या के बाद एसपीजी ऐक्ट में संशोधन किया गया।

क्या है इसकी खासियत –

एसपीजी सुरक्षा देश की स्पेशल सुरक्षा है और यह अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी व हथियारों, वाहनों से लैस होती है और इसकी कार्यप्रणाली इतनी तेज व आधुनिक होती है जो इसे बहुत ही चुस्त-दुरुस्त और मजबूत सुरक्षा सिस्टम बना देती है। आपको बता दें की इसमें 3000 कमांडो होते हैं जो की देश की बेस्ट सिक्यॉरिटी फोर्सेज से लिए जाते हैं। आपको बता दें की जिसे भी यह सुरक्षा प्राप्त होती है और जब वह व्यक्ति कहीं यात्रा करता है तो इनकी छोटी-छोटी टीमें बनाई जाती हैं और उस स्थान की पूरी जांच होती है। इसके अधिकारी उस स्थान पर पहले से ही पहुंच जाते हैं और 24 घंटे पहले ही उस स्थान को सुरक्षित बना लेते हैं। इसके अलावा SPG की टीम में स्नापर्स और बम निरोधक विशेषज्ञ भी होते हैं और गैजेट्स के मामले में अंधेरे में देख पाने वाले चश्मे, संचार के अत्याधुनिक उपकरण, बुलेटप्रूफ जैकेट, दस्ताने, और हाईटेक गाड़ियों का दस्ता भी मौजूद रहता है, जो किसी भी परिस्थिति को झेलने की क्षमता रखता है ।