बालाकोट एयर स्ट्राइक – याद रखेंगी पाकिस्तान की पीढ़ियां, जाने कैसे बना था प्लान

balakot air strike
image source - google

पुलवामा हमले का बदला भारत ने ऐसे लिया की पाकिस्तान की आने वाली सात पुस्ते याद रखेंगी। 14 फ़रवरी को पुलवामा में शहीद हुए 40 जवानो का बदला लेने की पूरा देश मांग कर रहा था। इस हमले के ठीक 12 दिन बाद 26 फ़रवरी 2019 को भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर 250 से ज्यादा आतकियों को मौत के घाट उतार कर अपने शहीद जवानों का बदला लिया। बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद देश शांत हुआ पर पाकिस्तान पूरी तरह से अशांत हो चूका था।

क्या हुआ था उस रात

पुलवामा हमले के बाद पूरा देश आक्रोशित था और बदला लेने की मांग कर रहा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उस समय देश को आश्वासन देते हुए कहा था की पुलवामा हमले का बदला लिया जायेगा और 26 फ़रवरी 2019 को हुआ भी ऐसा ही। बालाकोट में स्थित जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानो पर भारतीय वायु सेना ने हमला कर दिया और 250 से ज्यादा आतंकी मारे गए।

ऐसे हुई एयर स्ट्राइक 

26 फ़रवरी को रात 3:30 बजे 12 मिराज-2000 ने उड़न भरी और कुछ ही समय में वो LOC पार POK में स्थित बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानो पर अंधादुंध बमबारी करना शुरू कर दी। भारतीय वायु सेना ने बालाकोट में 3 आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया। 1 ईमारत में 12 आतंकी ट्रेनर और 97 आतंकवादी,दूसरी ईमारत गेस्ट हाउस थी, जिसमे 7 ट्रेनर और तीसरे टारगेट था हॉस्टल,जिसमे 150 आतंकी थे। इन सभी ठिकानो पर मिराज-2000 ने बमबारी की और सभी आतंकियों को मार दिया और सभी लड़ाकू विमान भारत सुरक्षित भारत आ गए।

पल-पल की खबर पीएम को

इस पूरे मिशन की जानकारी पीएम मोदी को थी। 26 फ़रवरी को पीएम मोदी 7 लोक कल्याण मार्ग अपने आवास पर देर रात काम में व्यस्त थे। पीएम के स्टाफ को भी ये बात नहीं पता थी की पीएम रात में सोने की जगह काम में क्यों व्यस्त है पर जब 27 फ़रवरी की सुबह हुई और पीएम को खबर मिली की मिशन सफल रहा तो सभी को पता चला की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरी रात सेना के संपर्क में थे और पल पल की खबर ले रहे थे।

मिराज-2000 की खासियत

➤ ये एक लड़ाकू विमान है जिसे फ़्रांस की डसाल्ट कम्पनी ने बनाया है।
➤ ये लड़ाकू विमान 2000 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से udh सकता है।
➤ मिराज 4th janreshan का लड़ाकू विमान है और भारत के पास 50 मिराज है।
➤ 400 मीटर से काम लम्बाई के रनवे से उड़ान भरने में सक्षम।
➤ वॉइस कमांड पर काम करता है मिराज।
➤ एक साथ दो लक्ष्य को निशाना बना सकता है।
➤ 145 किलोमीटर की दुरी पर स्थित लक्ष्य को बना सकता है निशाना।
➤ मिराज-2000 को फ़्रांस,भारत,चीन,ब्राजील और संयुक्त अरब अमीरात आदि देश उपयोग करते है।
➤ मिराज के 4 वेरियंट डसाल्ट ने बनाये है- मिराज-2000 C /मिराज-2000 B /मिराज 2000 न /मिराज 2000 D

डोनाल्ड ट्रम्प पत्नी के साथ करेंगे ताज का दीदार, CM योगी करेंगे स्वागत

पाक ने बोला झूठ

बालाकोट में एयर स्ट्राइक होने के बाद सीमा पर सुरक्षा बालों की संख्या बढ़ा दी गयी थी और एयर डिफेंस सिस्टम को हाई अलर्ट पर कर दिया गया था। पाकिस्तान को जब पता चला की भारत ने उसके घर में घुसकर 250 से ज्यादा आतंकियों को मार दिया है तो पाकिस्तान बौखला गया और पाक मेजर जनरल गफूर ने अपने देश की इज्जत बचाने के लिए झूट बोलना शुरू कर दिया। गफूर ने ट्वीट कर लिखा की भारतीय सेना के विमान LOC पार कर POK में आये और हमारी सेना ने मुँह तोड़ जवाब दिया और भारतीय सेना वापस लौट गयी।’ पर इस दावे का कोई सबूत पाक नहीं दे पाया ।

ऐसे हुई बालाकोट हमले की तैयारी

पुलवामा हमले होने के बाद 15 फ़रवरी को वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने सरकार को एयर स्ट्राइक करने को कहा। जिसे स्वीकार कर लिया गया और बालाकोट हमला करने के लिए तैयारियां शुरू हो गयी। ख़ुफ़िया एजेंसियों ने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों का पता लगाकर नक्शा तैयार कर लिया और उधर थल व वायु सेना ने सीमा का निरीक्षण किया। हमले के लिए 12 मिराज विमानों को चुना गया व 24 फ़रवरी को परीक्षण करने के बाद 26 को पाकिस्तान को सबक सीखा दिया गया और दुनिया ने एक नए भारत को देखा जो ईंट का जवाब पत्थर से देना जनता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here