खून का काला कारोबार करने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़, भिखारियों को पैसे देकर…

accused killed the woman
image source - google

खबर गोंडा से जहां जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए जिले में खून का काला कारोबार करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर 5 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

पूरा मामला

दरअसल कल सूचना मिली थी कि एससीपीएम हॉस्पिटल के पास कुछ दलाल खून का काला कारोबार करने की रणनीति बना रहे हैं। तभी औषधि निरीक्षक ने मौके पर पहुंचकर जब लोगों से पूछताछ की तो खून का काला कारोबार करने वाले गिरोह की पूरी पोल दर परत दर खुलने लगी। उसमें से कई लोगों के नाम सामने आए हैं।

पुलिस ने 14 नामजद व अन्य अज्ञात के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई में जुटी हुई है। गिरफ्तार किए गए दलाल लोग भिखारियों,नशेड़ियों को व अन्य जरूरतमंदो को पैसे की लालच देकर ब्लड निकला कर मोटी रकम पर ब्लड की सप्लाई करते थे वही आज रिजर्व पुलिस लाइन के सभागार में जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त प्रेस वार्ता करते हुए पूरी घटना का खुलासा किया है

जिस हॉस्पिटल के पास दलालों से पूछताछ व गिरफ्तारी हुई है उन हॉस्पिटल पर भी सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं फिलहाल जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक का दावा है कि जांच के दौरान जिस का नाम आएगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। बीते दिनों जिला अस्पताल में अवैध खून के काला कारोबारियों का वीडियो वायरल हुआ था।

जिस खबर को टीवी चैनलों ने प्रमुखता से दिखाया था खबर पर संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी ने संविदा कर्मी की सेवा समाप्ति के साथ अन्य कार्रवाई करते हुए पूरे मामले की जांच सिटी मजिस्ट्रेट वंदना त्रिवेदी को सौंपी थी। तभी से लगातार सिटी मजिस्ट्रेट व जिलाधिकारी की नजर इन कारोबारियों पर थी और कल सूचना मिलने के बाद औषधि निरीक्षक व पुलिस टीम ने कार्रवाई की है जिससे स्वास्थ विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज

कल देर रात थाना कोतवाली नगर में खून के अवैध कारोबारियों के खिलाफ 419- 20 ड्रग एक्ट कॉस्मेटिक एक्ट 18 व 27 धारा के तहत अभियोग पंजीकृत हुआ है। जिसमें से 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई है इस धंधे में संलिप्त लोग दा गोल्डन ब्लड के नाम से संस्था चलाते थे। इसी की आड़ में यह कारोबार करते थे जो लोग को ब्लड की जरूरत होती थी वह लोग भिखारी व अन्य लोगों को पैसे देकर उनका खून निकलवा कर मोटी रकम पर बेचते थे।

Sultanpur: कुड़ेभार में ओवरविरिज ब्रिज का गिरा पिलर, चपेट में आयी आधा दर्जन से ज्यादा गाड़ियां

इसमें से जिला अस्पताल में कार्यरत चंद प्रकाश के खिलाफ भी मुकदमा पंजीकृत हुआ है और सतीश चंद्र पांडे कॉलेज के के के मिश्रा के खिलाफ भी अभियोग पंजीकृत किया गया है कुल मिलाकर 14 नामजद व अज्ञात के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया वही हॉस्पिटल के संचालक ने यह बात साफ कर दी है कि जो भी कार्रवाई पुलिस करें पूरी जांच-पड़ताल के बाद करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here