प्रवासी मजदूरों में प्रथम स्थान पर सिद्धार्थनगर…

migrant laborers
Siddharthanagar

सिद्धार्थनगर:- लाक डाउन के बाद अन्य प्रदेशों से प्रवासी मजदूरों के गृह जनपद लौटने के बाद उनके रोजगार को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार कई आवश्यक कदम उठा रही है। बाहर से पलायन कर आए मजदूरों व कामगारों के लौटने के फेहरिस्त में सिद्धार्थनगर जिला प्रदेश के 31 जनपदों में प्रथम स्थान पर है।

सिद्धार्थनगर जिले में अब तक करीब 1 लाख 80 हज़ार मजदूर पलायन कर अपने घरों को आ चुके हैं। इन प्रवासी मजदूरों को रोजगार मुहैया कराने को लेकर प्रदेश व केंद्र सरकार की योजनाओं के बारे में डुमरियागंज सांसद जगदंबिका पाल ने कहा ,कि प्रवासी मजदूरों की जो लिस्ट तैयार हुई है।

उसमें पूरे भारत में 116 जनपद चिन्हित हुए हैं जहाँ प्रवासी मज़दूर अधिक संख्या में आये है। उत्तर प्रदेश में ऐसे 31 जनपद हैं। जिसमें सिद्धार्थनगर जिला 1लाख 80 हज़ार प्रवासी मजदूरों के साथ प्रथम स्थान पर है। इन को रोजगार देने के लिए केंद्र ने राज्य सरकारों से कार्य योजना बनाने के लिए कहा है।

इसी को दृष्टिगत रखते हुए अपने जिले से भी प्रदेश सरकार को कार्य योजना भेजी जा रही है। जिसमें जनपद की भौगोलिक और आर्थिक स्थिति को देखते हुए शुगर मिल, राइस मिल के साथ छोटे और मध्यम लघु उद्योगों और मछली व गाय पालन की कार्य योजना योजना भेजी जा रही है। इन बिंदुओं पर काम होने से जिले को विकास के साथ लोगों के रोजगार की समस्या भी दूर होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here