आज़म खान की गिरफ्तारी की फैलाई गई अफवाह, FIR दर्ज

  • भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (2) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66 के तहत दर्ज हुई FIR
  • फैज़ान खान ने आज़म खान गिरफ्तारी की फ़र्ज़ी खबर को फैला दिया था व्हाट्सएप ग्रुप पर

समाजवादी पार्टी के नेता आज़म खान की गिरफ्तारी की झूठी खबर फैलाने वाले के खिलाफ रामपुर में एफआईआर दर्ज करवाई गई है। रविवार को व्हाट्सएप पर खबर फैलाई गई थी कि मौलाना जौहर अली यूनिवर्सिटी से आज़म खान को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह खबर रामपुर के व्हाट्सएप वाले ग्रुप पर भी पहुँच गई। इस ग्रुप में रामपुर के कई आला अधिकारी भी शामिल थे।

आजम खान की गिरफ्तारी की फ़र्ज़ी खबर वायरल होने पर नौमान खान नाम के एक शिकायतकर्ता ने भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (2) और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 66 के तहत FIR दर्ज करवाई है। नौमान खान का आरोप है कि फैज़ान खान ने आज़म खान गिरफ्तारी की फ़र्ज़ी खबर को व्हाट्सएप ग्रुप पर फैला दिया था और वह उस ग्रुप के सदस्य थे। आज़म खान जौहर अली विश्वविद्यालय के कुलपति हैं और उन पर बहुत सारे मामले दर्ज हैं।