कमलेश तिवारी हत्या कांड संदिग्धों को पुलिस ने हिरासत में लिया

kamlesh tiwari accused arrested

कमलेश तिवारी हत्याकांड के मामले में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा कमलेश तिवारी के घर पहुँचे जहां समर्थकों ने दिनेश शर्मा का विरोध किया और उनके खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। लोगों के विरोध के कारण दिनेश शर्मा घर के दरवाजे से ही वापस लौट आए। पुलिस प्रशासन ने भारी सुरक्षा के बीच उनको समर्थकों के भीड़ में से निकाला। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि “परिवार की जो मांग है उन्हें पूरा किया जायेगा। सुरक्षा, मुआवजा दोनों दिया जायेगा। अधिकारियों को जल्द हत्यारो को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए। पुलिस प्रशासन अपना काम कर रहा है”।

इंजीनियरिंग कॉलेज पर लगे पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे

हिन्दू वादी नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद से पूरे शहर में बवाल मचा हुआ है। लोगों की भीड़ ने इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहे पर भी पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाया और सड़क जाम कर रखा है। पुलिस प्रशासन के अनुरोध करने के बावजूद भी लोग नहीं हट रहे हैं। चौराहे पर जाम लगाए समर्थक “कमलेश तिवारी अमर रहे, जय श्री राम जय श्री राम” के नारे लगा रहे हैं।

कमलेश के परिजनों ने बढ़ाया 3 और मांगें

कमलेश तिवारी की पत्नी पहुंची पीएम हाउस

कमलेश तिवारी की पत्नी परिजनों के साथ पीएम हाउस पहुँच गई है और उनके साथ भरी पुलिस बल मौजूद रहा। सैकड़ों लोग कमलेश तिवारी की पत्नी और पीड़ित परिवार के साथ रहे और उनको इंसाफ दिलाने की मांग किया। कमलेश तिवारी की हत्या के बाद पहला सीसीटीवी फुटेज सामने आया है जिसमे हत्यारे कैमरे में कैद हो गए हैं। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में ले लिया है और उनसे पूछताक्ष कर रही है।

हत्याकांड मामले में बनाई गई SIT

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में SIT बनाई गई है जिसका नेतृत्व आईजी करेंगे। एसआईटी में लखनऊ के आईजी एसके भगत, क्राइम ब्रांच के एसपी दिनेश पूरी तथा डीएसपी पीके मिश्रा को रखा गया है।

मुख्यमंत्री ने डीजीपी और अपर मुख्य सचिव को किया तलब 

राजधानी लखनऊ के नाका इलाके में शुक्रवार को हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपना लिया है। हत्या के बाद मुख्यमंत्री ने डीजीपी ओपी सिंह और अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी से तुरंत रिपोर्ट तलब करने का निर्देश दिया है। अपर मुख्य सचिव ने बताया है कि उनकी हत्या किसी पुरानी रंजिश के कारण हुई है और पुलिस जल्द ही इसका खुलासा करेगी।

पत्नी किरण तिवारी ने दिया पुलिस को तहरीर

कमलेश तिवारी की पत्नी किरण तिवारी ने पुलिस को बताया है कई अज्ञात कातिलों ने इस  वारदात को अंजाम दिया है और जिला बिजनौर के भनेड़ा थाना क्षेत्र में रहने वाले मौलाना मोहम्मद मुफ़्ती नईम काजमी और इमाम मौलाना अनुवारुल हक पर साजिश कर हत्या करवाने का आरोप लगाया है। पत्नी किरण तिवारी का कहना है कि “लगभग 3 साल पहले इन लोगों ने मेरे पति कमलेश का सिर कलम करने वालों को 1.5 करोड़ रुपये का इनाम देने को घोषणा की थी।

सात संदिग्ध हुए गिरफ़्तार 

कमलेश तिवारी हत्याकांड में सात लोगों की गिरफ्तारी की गयी है, बिजनौर में एक आरोपी मौलाना गिरफ्तार। बिजनौर  के मौलाना अनवारुल हक गिरफ्तार। थाना नगीना के आशियाना से किया गिरफ्तार। गुजरात के सूरत में भी हुई 7 लोगों की गिरफ्तारी।