मुख्य सचिव ने उत्तर प्रदेश जनपदों में पर्याप्त प्याज विक्रय केन्द्र खोलने के दिये निर्देश

प्याज की बढ़ती कीमतों से राज्य सरकार सजग हो गई है। इसीलिए सस्ता प्याज बेचने के लिए पहल की गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री राजेन्द्र कुमार तिवारी ने प्रदेश की जनता को प्याज कम कीमत पर उपलब्ध कराने हेतु प्रदेश के समस्त जनपदों में पर्याप्त प्याज विक्रय केन्द्र स्थापित कराकर प्याज की बिक्री कराने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को प्याज उपलब्ध कराने हेतु भारत सरकार के राजकीय संस्थानों से प्याज यथाशीघ्र मंगाकर प्रदेश में प्याज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराया जाये। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जनपदों में स्थित मण्डी परिषदों में फुटकर प्याज बिक्री हेतु खुलवाये गये। आउटलेट में प्याज की उपलब्धता निरन्तर बनायी रखी जाये। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के गजट के अनुसार थोक व्यापारियों को 50 मीट्रिक टन एवं फुटकर विक्रेता को 10 मीट्रिक टन भण्डारण की सीमा का कड़ाई से अनुपालन कराया जाये।

मुख्य सचिव आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती निवेदिता शुक्ला वर्मा, प्रमुख सचिव खाद्य एवं प्रसंस्करण श्री सुधीर गर्ग, निदेशक खाद्य एवं रसद श्री मनीष चैहान एवं निदेशक मण्डी के साथ बैठक कर प्रदेश की जनता को प्रत्येक दशा में न्यूनतम दर पर प्याज उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि प्याज की जमाखोरी करने वाले के विरुद्ध व्यापक अभियान चलाकर कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि प्याज जमाखोरी करने वालों के विरुद्ध डाले गये छापे की प्रगति की आख्या प्रतिदिन सायं 05 बजे तक मुख्य सचिव कार्यालय को उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि उद्यान निदेशालय में स्थापित कराये गये कण्ट्रोल सेण्टर के माध्यम से प्रदेश के समस्त (30) जिलों में प्याज की उपलब्धता एवं बिक्री के सम्बन्ध में प्रतिदिन शाम को सूचना अवश्य संकलित कर ली जाये।

प्याज विक्रय केंद्र का उद्यान मंत्री ने किया उद्घाटन

प्रमुख सचिव उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण श्री सुधीर गर्ग ने बताया कि प्रदेश के (30) जनपदों में प्याज विक्रय केन्द्र खोलने का निर्णय लिया गया है, प्रथम चरण में कुल(24) केन्द्र प्रदेश के (14) जनपदों में खुल चुके हैं एवं अवशेष (16) जनपदों में मंगलवार तक प्याज विक्रय केन्द्र खुल जायेंगे। उन्होंने बताया कि (14) जनपदों में लखनऊ जनपद में (12), प्रयागराज में (04), मुरादाबाद में (04), सहारनपुर (02) एवं रामपुर, आगरा, अलीगढ़, मेरठ, बरेली, बाराबंकी, शाहजहांपुर, बदायूं, बहराईच, सिद्धार्थनगर में एक-एक प्याज विक्रय केन्द्र स्थापित कराये जा चुके हैं। इन केन्द्रों पर मण्डी थोक भाव के आधार पर प्याज बिक्री प्रारम्भ कर दी गयी है।

श्री सुधीर गर्ग ने बताया कि अवशेष (16 )जनपदों-फैजाबाद, गोरखपुर, वाराणसी, बस्ती, अयोध्या, उन्नाव, मथुरा, बुलन्दशहर, गाजीपुर, कन्नौज, भदोही, फर्रुखाबाद, आजमगढ़, मिर्जापुर एवं कानपुर नगर में न्यूनतम एक-एक प्याज विक्रय केन्द्र उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, उ0प्र0 राज्य औद्यानिक सहकारी विपणन संघ एवं उ0प्र0 राज्य कृषि उत्पादन मण्डी परिषद के संयुक्त प्रयासों से खोले जा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि लखनऊ में( 04) केन्द्र-उद्यान भवन(2) सप्रू मार्ग लखनऊ, राजकीय शीतगृह अलीगंज लखनऊ, राजकीय उद्यान आलमबाग लखनऊ एवं डाॅ0 राम मनोहर लोहिया पार्क के गेट (नं0-2) के किनारे गोमती नगर लखनऊ में संचालित कराये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी स्थापित दुकानों पर निदेशक मण्डी द्वारा स्थानीय व्यापारियों के माध्यम से थोक भाव में प्याज उपलब्ध कराया जायेगा।

निदेशक मंडी ने बताया कि सोमवार को मंडी बंद होने के बावजूद प्याज की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के साथ लखनऊ शहर के दुबग्गा मोड़, दुबग्गा मंडी, सीतापुर रोड तथा किसान बाजार सीतापुर रोड पर चार दुकानें खुलवायीं जा चुकी हैं। खाद्य आयुक्त मनीष चौहान ने बताया कि उचित मूल्य पर प्याज की बिक्री के लिए राज्य कर्मचारी कल्याण निगम के डिपो में भी दुकानें खोली जा रही हैं।