1992 के बाद अब बढ़ा रामलला के पुजारियों का वेतन

27 साल बाद अयोध्या में स्थित राम मंदिर के पुजारियों के वेतन को यूपी सरकार ने बढ़ा दिया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने राम लला की सेवा करने वाले पुजारियों के वेतन में 3 हजार 8 सौ की बड़ी बढ़ोतरी की है।

पहले कितना था वेतन

रामलला की पूजा करने वाले पूजारी लम्बे समय से वेतन को बढ़ाने की मांग कर रहे थे। उनके लंबे इंतजार के बाद योगी सरकार ने वेतन में बढ़ोतरी करते हुए 30 हजार रुपए प्रति माह कर दिया है। आपको बता दे कि इससे पहले राम मंदिर में पूजा करने वाले पुजारीयो के ऊपर सरकार लगभग हर महीने 26 हजार 200 रुपए खर्च किया करती थी ।

मनोज मिश्रा जो कि अयोध्या के कमिश्नर हैं। उन्होंने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि पहले राम लला की सेवा करने वाले पुजारियों का मासिक वेतन 26 हजार 200 रुपए था। जिसको सरकार ने बढ़ाकर 30 हजार कर दिया है। रामलला के पुजारियों ने नाराजगी दिखाते हुए जुलाई में सरकार से पैसे बढ़ाने की मांग की थी। जिसके बाद सरकार ने ध्यान देकर अब वेतन में बढ़ोतरी की है।

अयोध्या राम मंदिर पर राम विलास वेदांती का बड़ा बयान, कांग्रेस के बारे में कही ऐसी बात

आपको बता दें कि इससे पहले सन 1992 में सरकार ने 150 रुपए की बढ़ोतरी की थी। और अब 27 वर्षों के इंतजार के बाद योगी सरकार ने इनके वेतन में इतनी अधिक बढ़ोतरी की है। किसके वेतन में कितनी बढ़ोतरी पुजारियों के अलावा 8 कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी हुई है। जिनकी सैलरी 7500 से 10000 के बीच में थी। उनमें ₹500 की बढ़ोतरी की गई है। वही प्रसाद के ऊपर अब हर महीने ₹800 अत्यधिक खर्च किए जाएंगे।

सरकार के द्वारा रामलला की पूजा व उनकी पूजा करने वाले पुजारियों की वेतन में बढ़ोतरी के बाद सभी बहुत खुश है। वही प्रधान पुजारी को 13000 हजार रुपए प्रतिमाह व सहायक पुजारी को 7 हजार 700 रूपए प्रति माह मिलेंगे ।