संसद में गृहमंत्री ने दिल्ली हिंसा पर दिया जवाब,जाने दिल्ली हिंसा में पुलिस और HM ने क्या उठाये थे कदम

Delhi Violence
image source - google

➤ संसद में गृह मंत्री ने दिल्ली हिंसा पर दिया जवाब
➤ दंगे करने के लिए 300 से ज्यादा लोग UP से लाये गए
➤ फेस आइडेंटिटी सॉफ्टवेयर से 1100 लोगों की हुई पहचान
➤ 60 सोशल मिडिया अकाउंट बनाये और बंद किये गए,पुलिस करेगी जाँच
➤ गृहमंत्री ने दिल्ली हिंसा में हुए नुकसान का दिया अकड़ा
➤ दिल्ली में भी दंगाईयों की संपत्ति होगी जब्त
➤ हवाला से आयी राशि की हुई जाँच

गृहमंत्री अमित शाह ने आज संसद में दिल्ली में हुई हिंसा पर विपक्ष द्वारा उठाये गए सवाल और लगाए गए आरोपों का जवाब दिया और दंगों के दौरान जिन लोगों की जान गई हैं, उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की और उनके परिवारों के प्रति भी संवेदनाएं व्यक्त की। इसके बाद गृहमंत्री ने कहा की काफी सदस्यों ने सवाल उठाये की दिल्ली पुलिस क्या कर रही थी? दंगों के समय पुलिस वहां जूझ रही थी और दंगो को नियंत्रित करने का काम कर रही थी। 24 फ़रवरी को 2 बजे दंगो की पहली सुचना व अंतिम 25 को रात 11 बजे मिली। दिल्ली पुलिस ने 36 घंटो में दंगो को समाप्त कर दिया।

गृहमंत्री ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए कहा की आप मुझ पर सवाल उठा सकते हैं और आपको ये अधिकार है, लेकिन तथ्यों के साथ तोड़-फोड़ करने का किसी का अधिकार नहीं है।कुछ लोगों ने कहा की CRPF ,ARMY को भेजना चाहिए था। मै बताना चाहता हूँ 23 तारीख को 17 कंपनी दिल्ली पुलिस की, 13 कंपनी CRPF की कुल 30 कंपनी क्षेत्र में पहले से ही मौके पर थी। दिल्ली हिंसा में 27 फ़रवरी से आज तक 700 से यदा FIR दर्ज और 2647 लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Delhi Violence : बजट सत्र के दौरान संसद में कांग्रेस करेगी अमित शाह के इस्तीफे की मांग

Face Identity Software से दंगाईयों की हुई पहचान

गृहमंत्री अमित शाह ने बताया की दिल्ली में हिंसा करने वालों की पहचान फेस आइडेंटिटी सॉफ्टवेयर के जरिये की 1100 से ज्यादा लोगों की पहचान हुई है। ओवैसी के एक बयान पर अमित शाह ने कहा की ओवैसी साहब ये सॉफ्टवेयर है, ये न तो धर्म और न ही कपड़े देखता है। वो सिर्फ और सिर्फ चेहरा और कृत्य देखता है और उससे ही उसको पकड़ता है। हमने लोगों से और मिडिया से दंगो का फुटेज माँगा था और दिल्ली की जनता ने हजारों की संख्या में पुलिस को वीडियो भेजे हैं। मुझे आशा है की अंकित शर्मा के क़त्ल का राज भी इन वीडियो से खुल जायेगा। जिन लोगों की पहचान हुई है उनको गिरफ्तार करने के लिए 40 टीमें दिन-रात लगी हुई है।

शाह का सोनिया गाँधी पर हमला

गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गाँधी की एक रैली का जिक्र करते हुए कहा की 14 दिसंबर को रामलीला मैदान में 1 पार्टी ने anti CAA रैली की, उसमें पार्टी की अध्यक्ष महोदय भाषण में कहती हैं कि घर से बाहर निकालों, आर-पार की लड़ाई करों, अस्तित्व का सवाल है। उसके बाद उनके एक वरिष्ठ नेता कहते हैं कि अभी नहीं निकलोगे तो कायर कहलाओगे।’ संसद में गृह मंत्री ने सवाल किया की ये हेट स्पीच नहीं है क्या?

60 सोशल मिडिया बनाये और बंद किये गए

गृहमंत्री ने बताया की 22 फ़रवरी को 60 सोशल मिडिया अकाउंट शुरू हुए और 26 फ़रवरी को बंद हो गए। वो क्या सोचते है वो बच जायेंगे,पुलिस उनको ढूंढ निकालेगी। मै दिल्ली की जनता को और पीड़ित परिवारों को आश्वासन देता हूँ की जिन्होंने भी आपके परिवार के सदस्यों को मारा है और आपका नुकसान किया है, उनमे से किसी एक को भी नहीं छोड़ा जायेगा। दिल्ली में दंगा करवाने के लिए 300 से ज्यादा लोगों को उत्तर प्रदेश से लाया गया था। जो बताता है की ये बहुत गहरी साजिश थी।

Arjun Kapoor ने खुद महिला से फोन लेकर ली सेल्फी,यूजर्स कर रहे ऐसे कमेंट

दिल्ली में इतना हुआ नुकसान

विपक्ष द्वारा पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए गृहमंत्री ने कहा की दिल्ली में हुए दंगो में जो लोग धर्म के आधार पर आकड़ा मांग रहे हैं, मैं उनको बताना चाहता हूँ कि 52 भारतीय मरे है,526 भारतीय घायल हुए है और 371 भर्तियों की दुकाने व 142 भारतियों के घर जले है। अब आप (विपक्ष) सदन को भी हिन्दू-मुस्लिम में बाटेंगे क्या?

दिल्ली में भी योगी फार्मूला

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा की दंगों में दिल्ली की जनता की संपत्ति का बहुत नुकसान हुआ है। जिन लोगों ने सार्वजनिक और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है,उनसे ही इसकी भरपाई की जाएगी। इसके लिए हमने दिल्ली हाई कोर्ट को Claim Commission के गठन के लिए पत्र लिखा है। वीडियोग्राफी के आधार पर दंगाईयों की पकड़ होगी और उनकी संपत्ति को जब्त किया जायेगा।

हवाला से आयी राशि की जाँच

दिल्ली में हुए दंगो पर संसद में गृहमंत्री ने कहा की हमने जनवरी के बाद दिल्ली में हवाला से आयी राशि की जाँच की, जिससे दिल्ली दंगों को फाइनेंस करने वाले 3 लोगो को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही ISIS से जुड़े 2 लोगो को भी गिरफ्तार किया है। जाँच के लिए हमने SIT की दो टीम बनायीं है। 49 मामले Arms Act में दर्ज किये है और दंगो की साजिश का भी केस दर्ज हुआ है। 152 हथियार पुलिस को हिंसा वाली जगहों से मिले है। 25 फ़रवरी से शांति समिति की मीटिंगें शुरू हुई और अब तक 650 मीटिंग हो चुकी है।”

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − nine =