Difference between curd and yogurt: आइए इस उलझन को दूर करते है

Curd and Yogurt
image source google

हम जानते है आप अपने स्वास्थ्य के लिए क्या कुछ नहीं करते। पर आप जानते है की कुछ ऐसी चीज़े भी है जो आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को मज़बूत रखेगी। इन मे से दही और योगर्ट भी शामिल है। पर आप यह जानते है कि Curd and yogurt दोनों अलग अलग उत्पाद है।

अगर आप इस उलझन मे है कि curd and yogurt दोनों एक चीज़े है, तो हम लोग यहाँ आपकी उलझन को दूर कर देंगे। इस पोस्ट से आप यह जानेंगे कि curd and yogurt मे क्या अंतर है। हाल ही मे, हमने जाना है कि कैसे डाइट आहार के रूप में योगर्ट की लोकप्रियता आसमान छू रही है। लेकिन कई लोग इससे जुड़ी उलझन मे है। कई लोगो का यह कहना है कि, यह एक प्रचलित कल्पित कथा है जहा भारत में दही कहते, और योगर्ट पश्चिम में कहते है। यद्यपि दोनों उत्पाद एक महीन रेखा से भिन्न हैं, लेकिन सबसे बड़ा अंतर इसकी तैयारी की विधि में निर्भर करता है।

जानिये कितने और किन मामलो मे curd and yogurt अलग है

इस अनुभाग हम लोग विस्तार से आपको curd and yogurt का अंतर समझाएंगे। तो फिर आप इस अनुभाग को ध्यान से पढ़ सकते है।

दोनों प्रोडक्ट्स तैयार करने के तरीके जानिए

योगर्ट के तैयार करने का तरीका बहुत ही उलझा हुआ है। पर आसान भाषा मे बोले तो योगर्ट बनाने के लिए खमीरीकरण का प्रोसेस का इस्तेमाल होता है। इस डेरी प्रोडक्ट को दूध मे बैक्टीरिया खमीरीकरण करके बनाया जाता है। इस प्रोसेस का नाम है योगर्ट कल्चर। यह बैक्टीरिया खमीरीकरण से लाक्टोसे और लैक्टिक एसिड का उपज होता है। इन दोनों से योगर्ट कि तैयारी की जाती है।

डिग्रियों के भी खुले बाजार, जाने क्या है वजह

वह दूसरी ओर कर्ड की तैयारी, दूध मे एडीबल एसिडिक सब्सटेंस जैसे कि नींबू का जूस को मिला कर किया जाता है। आप दही आसानी से घर मे बनाया जा सकता है पर योगर्ट फ़ैक्टरी मे बनते है।

इन दोनों प्रोडक्ट्स की शुरुआत कब हुई

योगर्ट एक तुर्की शब्द है जिसकी शुरुआत मध्य एशिया में हुई थी। बताया जा रहा है कि योगर्ट अचानक ही कोई गड़बड़ी से हुई है। इसका चलन 19वीं शताब्दी से बढ़ा और बीसवीं शताब्दी के शुरुआत में योगर्ट अमेरिका पहुंच गया। उसके बाद यह दुनियाभर मशहूर हो गया। जबकि दही का प्रयोग योगर्ट से कई सौ वर्षो पहले हो गया था।

curd and yogurt कौन से दूध से बनाया जाता है?

योगर्ट गाय, बकरी, ऊंट, भैंस, घोड़ी के दूध से बनाया जाता है। पर दही गाय, भैंस, भेड़, याक, ऊंट, बकरी से बनाया जाता है।

यहाँ जानिए इनका स्वाद कैसा है?

जब योगर्ट कल्चर्स का प्रयोग होता है, तब बैक्टीरिया से लैक्टिक एसिड बनता है। यह तोह आप पहले से जानते है। इसकी लैक्टिक एसिड से योगर्ट का स्वाद थोड़ा खट्टा और थोड़ा मीठा भी होता है।
वहा दही का स्वाद योगर्ट से ज़्यादा खट्टा है। ऐसा भी हो सकता है कि आप इस खट्टापन को अपने खाने मे महसूस कर सकते है।

सेहत मे फायदा

योगर्ट और दही को सेवन करने के कई फायदे है। योगर्ट फास्फोरस, कैल्शियम, ज़िंद, राइबोफ्लेविन-विटामिन B2, विटामिन B12, आयोडिन, पोटाशियम, मोलिबडेनम और प्रोटीन कि प्राप्ति होती है। योगर्ट मे प्रोबायोटिक्स भी पाए जाते है। योगर्ट के जो बैक्टीरिया है वोह इम्यून सिस्टम को भी मजबूत करते है।

दही भी आपके शरीर के लिए भी फ़ायदेमंद है। इसमें आपको विटामिन ए, ई और के भी मिल जाता है। इन सब के अलावा आपको राइबोफ्लेविन, थाइमीन, नाइसीन, विटामिन B6, फोलेट, विटामिन B12, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, सिलेनियम सेचुरेटिड फैट, फ्लूराइड, कॉपर, जिंक, ओलेक एसिड आदि भी मिल सकते है।

कैसे योगर्ट और दही को खाया जाये?

अगर आप इस कठिनाई मे है कि योगर्ट और दही को कैसे खाये तो इस अनुभाग को अच्छे से पढ़े। योगर्ट को आप ऐसे ही खा सकते है। आप इसको नमकीन और मीठा करके भी खा सकते है। योगर्ट मे आप फ्लेवर भी डाल सकते है। आप क्रीम के जगह योगर्ट भी डाल सकते है। आप इससे लस्सी और छाछ मे भी इस्तेमाल कर सकते है। योगर्ट के तरह ही दही को भी ऐसे ही खाया जाता है। दही का इस्तेमाल डेजर्ट और सलाद मे भी मिलाया जाता है।

तो यह था डिफरेंस (अंतर) बिटवीन curd and yogurt का जो आपको जान कर ख़ुशी होगी। हम आशा करते हैं कि इस आर्टिकल से आपकी उलझन दूर हो गई होगी।