राफेल : सुप्रीम कोर्ट ने पुनर्विचार याचिका को खारिज किया

rafale case
image source - google

मोदी सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी रहत मिली है। राफेल सौदे पर दायर की गयी पुनर्विचार याचिका को CJI रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने ख़ारिज कर दिया है। जोकि मोदी सरकार के लिए बड़ी राहत की बात है। बता दे पुनर्विचार याचिका में कहा गया था की मोदी सरकार राफेल खरीद में घपला कर रही है। राफेल को उसकी वास्तविक कीमत से तीन गुना ज्यादा देकर ख़रीदा जा रहा है। कांग्रेस का कहना है की राफेल की का सौदे में एक राफेल की कीमत 526 करोड़ रूपए है । जो मोदी सरकार तीन गुना 1570 करोड़ बता रही हैं। ये घपला नहीं तो क्या है। तभी राहुल गाँधी ने पीएम को ‘चौकीदार चोर है’ कहा था।

राफेल की खासियत

राफेल को फ़्रांस से लिया जा रहा है और इसको दसॉल्ट कम्पनी बना रही है। राफेल 24000 किलो वजन आसानी से उठा कर ले जा सकता है। ये एक मिनट में 60 हज़ार फुट तक की उचाई तक पाहुच है। राफेल 2100 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से उड़ सकता है। इससे परमाणु हथियार को आसानी से ले जाया जा सकता है। इसकी मारक क्षमता 3700 किलोमीटर तक है। दुश्मन के इलाके में क्षण भर में तबाही मचा सकता है। भारतीय वायु सेना के लिए यह बहुत आवश्यक है।