तीनो पार्टियों के गठबंधन पर बोले गडकरी,स्थिर सरकार नहीं दे पाएंगे

maharastra sarkar
image source - google

महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए शिव सेना ने बीजेपी का साथ छोड़ एनसीपी और कांग्रेस का हाथ थामने का फैसला किया था और कई दिनों बाद तीनो पार्टियों में सहमति बन गयी है। इसी पर बात करते हुए यूनियन मिनिस्टर नितिन गडकरी ने कहा की कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के बीच वैचारिक मतभेद हैं। महाराष्ट्र में सरकार बनने पर भी सरकार बहुत आगे नहीं बढ़ेगी। यह तीनो पार्टियों का अवसरवाद का गठबंधन है, वे महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार नहीं दे पाएंगे।

गठबंधन तोडना हिंदुत्व और महाराष्ट्र के लिए नुकसान

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा की ‘भाजपा और शिवसेना गठबंधन हिंदुत्व की विचारधारा पर आधारित था और आज भी हमारे बीच वैचारिक मतभेद नहीं हैं। इस तरह के गठबंधन को तोड़ना न केवल देश के लिए बल्कि हिंदुत्व के लिए और महाराष्ट्र के लिए भी एक नुकसान है।’ जो भी हो अब तीनो पार्टी सरकार बनाने के लिए तैयार है। महाराष्ट्र में सरकार बनने के बाद चलेगी या नहीं ये तो समय ही बताएगा।