24 घण्टे में मिलेंगे 4 लाख रूपये-मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश

दो दिन से लगातार हो रही बारिश से लोगों की जान पर आ गई है।इस बीच मौसम विभाग के अलर्ट के बाद कई जिलों में इंटर तक के स्कूल शुक्रवार के लिए बंद कर दिए गये हैं।बाराबंकी में जहां दीवार व मकान गिरने से छात्र व महिला की जान चली गई। वहीं रायबरेली में भी दीवार गिरने से दो की मौत हो गई। वहीं अंबेडकरनगर में एक जान चली गई। सीतापुर में तटबंध टूटने से 52 गांवों पर खतरा मंडराने लगा है। इस तरह की बारिश देख कर मुख्यमंत्री जी ने राहत निर्देश दिए उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री ने बाढ़ तथा अतवृष्टि के दृष्टिगत सभी मंडलायुक्तों एवं जिला अधिकारियो को पूरी तत्परता से समस्त राहत कार्य सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा है की अधिकारी बाढ़ वाले क्षेत्र का भ्रमण कर राहत कार्यो पर नजर रखेंगे।

  • ● बाढ़ पीड़ित मृतक के परिजनों को मिलेंगे 4 लाख रूपये
  • ● बाढ़ पीड़ित घायलों को सुनिश्चित उपचार की व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने कहा की बाढ़ की वजह से मर्त्यु होने पर मृतक के परिवार वालो को (24) घण्टे में (04) लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। बाढ़ पीड़ित घायल व्यक्ति को समुचित उपचार की व्यवस्था कराई जाएगी।

भारी बारिश होने से राजधानी के स्कूलों में कल रहेगा अवकाश

योगी जी ने कहा की जल जमाव की स्थिति में प्राथमिकता में जल निकासी की व्यवस्था की जाये। अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार पता चला है की तेज बारिश की वजह से जनपद चंदौली में (3) व्यक्तियों की अमेठी तथा भदोही में (2-2) व्यक्तियों तथा जनपद अयोध्या और वाराणसी में (1-1) यक्ति की बाढ़ की वजह से मर्त्यु हो गई। योगी ने घायल व्यक्तियों की समुचित उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा की किसी भी व्यक्ति को कोई भी परेशानी न हो। समस्या वाले स्थान पर अधिकारी खुद वहाँ जा कर विजिट करेंगे। अगर कही जल भराव होता है तो वहाँ तत्काल राहत की व्यवस्था करे।

● इससे पहले भी सितंबर में हुई है झमाझम

राजधानी में सितंबर के अंतिम सप्ताह में झमाझम बारिश इससे पहले भी होती रही है। 23 सितंबर 2017 को 51.41 मिमी बारिश हुई थी। सितंबर के महीने में सबसे ज्यादा 177.1 मिमी बारिश 14 सितंबर 1965 में हुई थी।

इससे पहले बृहस्पतिवार सुबह से शुरू बारिश ने देर रात तक भिगोया। इसके चलते दिन का अधिकतम तापमान सामान्य से आठ डिग्री कम 25.2 और न्यूनतम पारा 23.9 डिग्री दर्ज हुआ। आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि पूर्वी उत्तर प्रदेश से गुजर रही मानसूनी टर्फ के कारण राजधानी समेत पूरे प्रदेश में अगले दो से तीन दिन तक बारिश का सिलसिला बना रहेगा।