Coronavirus : UP सरकार COVID-19 को लेकर संजीदा

UP government serious about Coronavirus
google

उत्तर प्रदेश सरकार देश भर में फैली महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर फिक्रमंद है और इसी क्रम में लगातार वह कई बड़े व अहम कदम उठा रही है। राज्य सरकार तथा उत्तर प्रदेश कारागार ने आज राजधानी लखनऊ की कारागार से एक नई पहल की शुरुआत किया है और कोरोना वायरस से बचने के कई इंतज़ाम किये हैं।

भारत में जहाँ कोरोना वायरस जैसी महामारी ने पांव पसार लिया है और अब उत्तर प्रदेश को भी अपनी चपेट में लेने की कवायत में है। वहीँ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य को कोरोना मुक्त बनाने के लिए कमर कस ली है और सभी विभागों को सैनिटाइज़र इस्तेमाल करने का आदेश दिया है। इसी क्रम में उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा विभाग कारागार विभाग तथा जेल प्रशासन अब अन्य विभागों के लिए नज़ीर बन रहा है। आज आवाज़ ए उत्तर प्रदेश के ब्यूरोचीफ शशांक श्रीवास्तव ने जिला जेल लखनऊ पहुंचकर वहाँ का जायज़ा लिया तथा सरकार की पहल को भी जाना।

UP government serious about Coronavirus
google

एक तरफ जहाँ लखनऊ की जेल में हज़ारों लोग अपने बंदी से मिलने आते हैं तथा उनसे मिलते हैं। कोरोना वायरस को लेकर कारागार प्रशासन ने 31 मार्च तक कैदियों से मुलाक़ात करने पर रोक लगा दी है वहीँ कैदियों की सुरक्षा के मद्देनज़र व्यापक इंतज़ाम भी किये गए हैं। लखनऊ के जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने जेल में कोरोना से बचने के लिए बहुत ही व्यापक इंतेज़ाम किया है। इसमें प्रत्येक आने वाले को सैनिटाइज़र से हाथ धुलने के साथ मास्क भी दिया जाता है ताकि आम आदमी को इस रोग से बचाया जा सके।

Corona Virus Research – ऐसे लोगों को सबसे पहले हो रहा कोरोना वायरस,जान लें

साथ ही कोरोना मुक्त कारागार हो इसके लिए पूरे जेल परिसर में प्रॉपर फोगिंग के साथ हर आगंतुक का थर्मल चेकअप भी किया जा रहा है ताकि इस रोग से बचा जा सके और संक्रमित रोगियों को पहचाना भी जा सके तथा यह और ज़्यादा ना फैलने पाए। पुलिस महानिदेशक कारागार आनंद कुमार की इस पहल ने वास्तव में एक नई मिसाल कायम की है। साथ ही जेल अधीक्षक पीएन पांडेय की सक्रियता ने इसे अमली जामा पहनाने का काम किया है और सरकार की मंशा के अनुरूप अन्य विभागों के लिए मिसाल भी कायम की है।

क्या कहा जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने

जिला कारागार लखनऊ, जहां आज कैदियों की भीड़ नदारद है और ये किसी और चीज़ का इफेक्ट नहीं है बल्कि कोरोना इफेक्ट है। इससे निपटने के लिए राज्य सरकार ने कमर कस ली है और इसका नज़ीर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ बना है। जिला जेल और कारागार विभाग के पुलिस महानिदेशक आनंद कुमार की पहल पर इसे अमली जामा पहनाने का काम पीएन पांडेय कर रहे हैं और उनका लक्ष्य कारागार को कोरोना मुक्त बनाना है।

About Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here