सिद्धार्थनगर : कलयुगी माँ ने मानवता को किया शर्मशार…

Siddharthnagar
Google

सिद्वार्थनगर में एक कलयुगी मां ने पूरी मानवता को शर्मशार करके रख दिया है। इस गुमनाम मंा नें अपनी नवजात बच्चे को जन्म के फौरन बाद मरने के लिए एक सूनसान जगह पर मिट्टी के नीचे रख दिया था। लेकिन सच ही कहा गया है कि मारने वाले से बचाने वाला बड़ा ही होता है। यही बात इस नवजात पर भी लागू हुई और अब दूसरी मां इसे गोद लेकर माँ का आँचल देने को तैयार है।

जम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी सफलता, पुलवामा जैसे आतंकी हमले की साजिश की नाकाम

दिल को दहला देने वाला यह मामला जिले के जोगिया थाना क्षेत्र के निपनिया गांव का है।गांव के बाहर मिट्टी के नीचे किसी ने जिंदा नवजात बच्चे दबा दिया था।यहाँ मिट्टी की खुदाई का काम चल रहा था इस दौरान लोगो ने देखा कि कपड़ा दिख रहा है हल्का हल्का तो पास जाकर उस कपडे के ऊपर से मिट्टी को हटाया तो नवजात शिशु मिला वो भी जिन्दा और आसपास आवाज देनें पर भी काई नही आया। लोगो ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।पुलिस ने मौके पर पहुँचते ही ग्रामीणों की मदद से बच्चे को इलाज के लिये सा0स्वा0केन्द्र जोगिया ले गये जहां डॉक्टरो बच्चो का इलाज किया और बच्चे को स्वस्थ बताया।

इसी बीच गांव की महिला लक्ष्मी वहां पहुच गयी और बच्चे को गोद लेने की बात कही।लक्ष्मी के इस कदम को बेहद सराहा जा रहा है और वह उसे अपनी बच्चे की तरह पालने को तैयार है।

इस घटना से पूरे इलाके के लोग हैरान है उन्हे यह भरोसा नही हो रहा है कि कैसे कोई मां अपनी जिन्दा बच्चे को इस तरह मरने के लिए मिट्टी के नीचे दबा सकती है।वही स्थनीय लोग एक ओर जहां गुमनाम माँ की हरकत से बेहद खफा है तो वही बच्चे को अपनाने के आगे आने वाली लक्ष्मी की भूरि भूरि प्रशंसा कर रहे है। फिलहाल बच्चे का इलाज अभी भी जारी है। डॉक्टर इसे खतरे से बाहर बता रहे है।

काफी पूंछताछ के बाद भी उस गुमनाम मां का अबतक कोई पता नही लग पा रहा है। और न ही कोई वारिस इस बच्चे को लेने के लिए सामने आ रहा है। फिलहाल इस बच्चे को कागजी कोरम पूरा करने के बाद लक्ष्मी को देने की बात की जा रही है।कागजी कोरम पूरा होने के बाद ये बच्चा लक्ष्मी की गोद मे खेलता नजर आयेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here