तीन तलाक पीड़ित मुस्लिम महिलाओं से मिले मुख्यमंत्री

  • तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं का मुकदमा खुद लड़ेगी सरकार
  • तलाक पीड़ित हिन्दू, मुस्लिम महिलाओं को हर वर्ष मिलेंगे 6 हज़ार रूपए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ के गोमती नगर स्थित इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में बुधवार को तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने घोषणा किया कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं का मुकदमा सरकार खुद लड़ेगी। उन्होंने कहा कि जिन महिलाओं के पास घर नहीं हैं तो उनको घर, उनके बच्चो की पढ़ाई, छात्रवृत्ति तथा आयुष्मान भारत योजना द्वारा इलाज देना चाहिए और महिलाओं के कल्याण के लिए एक खास योजना भी बनाई जानी चाहिए।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने तीन तलाक से पीड़ित सुमेला जावेद नाम की राष्ट्रीय महिला खिलाड़ी से बात की और उसे अपना मुकदमा मुफ्त में लड़ने के लिए सुविधा देने की घोषणा की। साथ ही इस महिला खिलाड़ी को सरकारी नौकरी देने के लिए भी कहा है।

अधेड़ ने 15 साल की नाबालिग से निकाह कर, कराया धर्म परिवर्तन।

मुख्यमंत्री ने हिन्दू महिलाओं के लिए भी घोषणा करते हुए कहा कि हिन्दू परित्यक्ता महिलाओं को भी इसी प्रकार का न्याय दिलाया जाएगा और एक शादी करने के बाद दूसरी महिला को रखने वाले हिन्दू पुरुषों को दंड दिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि तलाक पीड़ित हिन्दू तथा मुस्लिम महिलाओं को हर वर्ष 6 हज़ार रूपए का अनुदान देने की भी योजना बनाई जाएगी।