घूस लेते रंगे हाथों धरे गए अयोध्या के सीएमओ

  • CMO डॉ. हरिओम श्रीवास्तव को रंगे हाथो 20 हज़ार रूपए घूस लेते हुए उनके आवास से किया गिरफ्तार
  • मनपसंद अस्पताल में स्थानांतरण करवाने के लिए सीएमओ ने माँगा 40 हज़ार रूपए घूस

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में शुक्रवार की शाम को एंटी करप्शन टीम ने मुख्य चिकित्साधिकारी (CMO) डॉ. हरिओम श्रीवास्तव को रंगे हाथो 20 हज़ार रूपए घूस लेते हुए उनके आवास से गिरफ्तार किया है। सूत्रों से पता चला है कि एंटी करप्शन की टीम ने सीएमओ को ऐसे समय पकड़ा जब उनके अधीन काम करने वाले एक चिकित्सक वीपी सरोज से वह घर पर मुलाक़ात कर रहे थे। सरोज अपने मनपसंद अस्पताल में स्थानांतरण करवाने के लिए सीएमओ को 40 हज़ार रूपए घूस देने का प्रस्ताव दिया था।

अयोध्या में मौजूद एसीबी की टीम को सूचना मिलते ही CMO घर पहुँच गई और उनको हिरासत में ले लिया। इसके बाद उन्हें कोतवाली ले गए। एसपी आशीष तिवारी और जिलाधिकारी एके झा को जैसे ही सीएमओ की गिरफ्तारी की खबर मिली तो वह भी कोतवाली पहुँच गए। इसके अलावा बड़ी संख्या में स्वास्थ्य कर्मी व चिकित्सक भी कोतवाली नगर पहुंचे। सीएमओ से पूछ ताछ की गई।

प्रधानमंत्री आवास के नाम पर सचिव पर 20,000 घूस मांगने का आरोप

एसपी विजिलेंस अखिलेश ने बताया है कि डॉ. सरोज रानीबाजार के प्राथमिक स्वास्थ केंद्र में थे। सीएमओ ने जून से उनको शाहगंज के स्वास्थ्य केंद्र से भी सम्बद्ध कर दिया था जिसके कारण डॉ. सरोज को तीन दिन शाहगंज तथा तीन दिन रानीबाजार जाना पड़ता था। दोनों स्वास्थ केंद्रों में अधिक दूरी होने की जिसकी वजह से वह अपनी सम्बद्धता ख़त्म करवाना चाह रहे थे। सम्बद्धता ख़त्म करने के लिए सीएमओ ने 40 हज़ार रूपए की मांग किया। डॉ. सरोज ने इसी महीने विजिलेंस टीम से इसकी शिकायत की जिसके तहत एंटी करप्शन टीम ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया।