अयोध्या मामले पर चीफ जस्टिस की मुख्य सचिव व DGP के साथ हुई बैठक ख़त्म !

Meeting of Chief Justice
image source google

जैसे जैसे दिन बीतता जा रह है वैसे ही अयोध्या में राम जन्मभूमि पर आने वाले फैसले को लेकर हलचल में भी तेजी आ रही है। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यूपी के आला अधिकारियों के साथ बैठक की यह बैठक 1 घंटे से भी ज्यादा देर एक चली और इस बैठक में अयोध्या मामले पर सुनवाई करने वाले दूसरे जज भी मौजूद रहे। आपको बता दें की लगभग 1 घंटे से भी ज्यादा चली इस बैठक में जजों ने राज्य में सभी सुरक्षा इंतजामों की समीक्षा की और अधिकारीयों से उनके सुझाव भी मांगे।

यह बैठक सीजीआई के चैंबर में हुई और इस बैठक में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई समेत राज्य के मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक भी मौजूद थे। सरकार की क़ानून व्यवस्था को लेकर सुरक्षा की क्या तैयारियाँ है इसकी भी जानकारी ली और यह भी जानने में दिलचस्पी दिखाई की उन्हें कोर्ट से किस तरह की मदद की उम्मीद है।

इसके अतिरिक्त डीजीपी ने चीफ जस्टिस को जो भी संवेदनशील इलाके हैं अयोध्या के भी अलावा, वहां किस तरीके से सुरक्षा बल व अर्धसैनिक बल तैनात किए गए हैं उस जानकारी से भी अवगत कराया। इसी के साथ मुख्य न्यायधीश ने इस फैसले से पहले किसी भी प्रकार की अफवाह नहीं फैलेगी ये भी वहाँ मजूद दोनों अधिकारियों से सुनिश्चित किया और साथ में यह भी कहा सुप्रीम कोर्ट से किसी भी तरह का सहयोग चाहिए तो हमें बताये, हम इसके लिए तैयार हैं।

आपको बता दें की 17 नवम्बर को वर्तमान समय के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई रिटायर हो जायेंगे और इससे पहले ही फैसला आ जाना है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या श्रीराम जन्म भूमि के विवादित मामले में अपना फैसला सुरक्षित कर लिया है और इस फैसले की जल्द ही आ जाने की संभावना है। इसी के चलते उत्तर प्रदेश सरकार अयोध्या के साथ – साथ प्रदेश के हर जिले में सुरक्षा में कोई कमी नहीं छोड़ रही है। इसी के चलते उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के आला अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की थी।